Top
Action India

पुलिस ने पकड़ी नकली अंग्रेजी शराब बनाने की अवैध फैक्ट्री

पुलिस ने पकड़ी नकली अंग्रेजी शराब बनाने की अवैध फैक्ट्री
X

  • मौके पर गंगानगर, रायसिंहनगर के दो जनों समेत पांच व्यक्ति गिरफ्तार

श्रीगंगानगर । एएनएन (Action News Network)

पंजाब में लुधियाना जिले में खन्ना के पास स्थित गांव बाहोमाजरा में बुधवार को पंजाब पुलिस ने नकली शराब की अत्याधुनिक फैक्ट्री पकड़ी। इस फैक्ट्री में अत्याधुनिक बॉटलिंग प्लांट लगा था। कर्फ्यू के दौरान रोजाना एक हजार पेटी अवैध शराब बनाकर विभिन्न इलाकों में सप्लाई की जा रही थी। इस मामले में पुलिस ने पांच जनों को गिरफ्तार किया है, जिनमें दो श्रीगंगानगर जिले के रहने वाले हैं। जिस गांव बाहो माजरा में यह फैक्ट्री चल रही थी, वह श्रीगंगानगर से 293 किलोमीटर दूर है।

पंजाब पुलिस के एसएसपी हरप्रीत सिंह ने बताया कि पकड़े गए लोगों में चन्द्र प्रकाश उर्फ विक्की मिढ्डा पुत्र सुरेन्द्र कुमार निवासी रायसिंहनगर (राजस्थान), जितेन्द्र कुमार पुत्र मनोहरलाल निवासी जिला गंगानगर (राजस्थान), हरविद्र सिंह उर्फ मंगा चड्ढा पुत्र प्यारा सिंह निवासी पटियाला, जतिन्द्र पाल पुत्र शीतल सिंह निवासी पायल तथा मनिंद्र सिंह पुत्र गुरबचन सिंह शामिल हैं। फैक्ट्री से विभिन्न ब्रांड नकली अंग्रेजी शराब की 2800 पेटियां बरामद हुई हैं जबकि 950 पेटियां तैयार करने के लिए तैयार माल बरामद हुआ है। इसके अलावा भारी मात्रा में बोतलें, ब्लेंडर और अन्य साजो-सामान बरामद हुआ है। साथ ही एक इनोवा गाड़ी, एक कैंटर, एक ट्रैक्टर-ट्रॉली तथा 5 लाख 82 हजार रुपये भी बरामद हुए हैं।

पुलिस को इस फैक्ट्री के बारे में एक मुखबिर ने सूचना दी। पुलिस एवं आबकारी विभाग के दल जब फैक्ट्री में पहुंचे तो वहां काम चल रहा था। बरामद इनोवा कार श्रीगंगानगर में रजिस्टर्ड है और उसका नंबर आरजे 13 सीबी 3360 है जबकि कैंटर पंजाब नंबर का है। पुलिस का कहना है कि यह फैक्ट्री चार-पांच महीनों से चल रही थी। अवैध शराब फैक्ट्री में गिरफ्तार क्षेत्र निवासी चंद्रप्रकाश उर्फ विक्की पुत्र सुरिन्दर मिड्डा को पिछले दिनों स्थानीय स्वास्थ्य विभाग ने होम क्वॉरेन्टाइन किया था। हैरानीजनक है कि इसके बावजूद वह पंजाब कैसे पहुंच गया? लॉकडाउन के पहले चरण में चंद्रप्रकाश पंजाब से रायसिंहनगर आया था। सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग ने जांच के बाद उसे होम क्वॉरेन्टाइन कर दिया। इसके बावजूद वह पंजाब पहुंच गया। वह भी तब, जब पुलिस और प्रशासन यह दावा करता है कि श्रीगंगानगर से पंजाब आने-जाने वाले सभी रास्ते सील हैं।

Next Story
Share it