Top
Action India

प्रियंका वाड्रा का योगी सरकार पर हमला, कहा तीन सालों से हुईं सबसे ज्यादा हत्याएं

प्रियंका वाड्रा का योगी सरकार पर हमला, कहा तीन सालों से हुईं सबसे ज्यादा हत्याएं
X

  • गृह विभाग और मुख्यमंत्री ने आंकड़ों पर पर्दा डालने के अलावा क्या किया?

  • कानपुर में शहीद पुलिस उपाधीक्षक के मार्च में लिखे पत्र को बताया नृशंस वारदात का अलार्म

लखनऊ । Action India News

कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद कानून व्यवस्था के मुद्दे पर लगातार योगी सरकार पर हमलवार बनी हुई हैं।
उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया कि देश में हत्याओं के आंकड़े देखें तो यूपी पिछले 3 सालों से लगातार टॉप पर रहा है।

हर दिन औसतन 12 हत्या के मामले आते हैं। उन्होंने कहा कि 2016-2018 के बीच में बच्चों पर होने वाले अपराध यूपी में 24 प्रतिशत बढ़ गए। यूपी के गृह विभाग और सीएम ने इन आंकड़ों पर पर्दा डालने के अलावा किया ही क्या है?

प्रियंका वाड्रा ने कहा कि आज उसका नतीजा है कि यूपी में अपराधी बेलगाम हैं। उनको सत्ता का संरक्षण है। कानून व्यवस्था उनके सामने नतमस्तक है। कीमत हमारे कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी व जवान चुका रहे हैं।

इसके साथ ही उन्होंने कानपुर में शहीद पुलिस उपाधीक्षक देवेन्द्र मिश्र के एक पत्र को लेकर आ रही खबरों पर भी सरकार पर निशाना साधा। प्रियंका वाड्रा ने कहा कि कानपुर कांड में शहीद हुए पुलिस अधिकारी देवेन्द्र मिश्र का वरिष्ठ अधिकारियों को मार्च में लिखा गया पत्र इस नृशंस वारदात का अलार्म था।

आज कई खबरें आ रही हैं कि वो पत्र गायब है। ये सारे तथ्य यूपी के गृह विभाग की कार्यशैली पर एक गंभीर प्रश्न उठाते हैं। उन्होंने इस पत्र की तस्वीर भी साथ में अपलोड की है। इससे पहले सोमवार को प्रियंका ने दलित उत्पीड़न को लेकर सरकार को घेरा।

उन्होंने कहा कि दलितों के खिलाफ होने वाले कुल अपराध के एक तिहाई अपराध यूपी में होते हैं। यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराध में साल 2016 से 2018 तक 21 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई। ये सारे आंकड़ें यूपी में बढ़ते अपराधों और अपराध के मजबूत होते शिकंजे की तरफ इशारा कर रहे हैं। हैरानी इस बात की है कि इन सब पर जवाबदेही फिक्स करने की बजाय यूपी सरकार 'अपराध खत्म हो जाने' का झूठा प्रचार करती रही।

Next Story
Share it