Top
Action India

मीरजापुर में लाठीचार्ज पर प्रियंका भड़कीं, कहा किसान विरोध भरा है भाजपा के अंदर

मीरजापुर में लाठीचार्ज पर प्रियंका भड़कीं, कहा किसान विरोध भरा है भाजपा के अंदर
X

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

कांग्रेस महा‍सचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मीरजापुर में किसानों की फसल को रौंदने को लेकर सोमवार को एक वीडियो ट्वीट कर योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने इस वीडियो का हवाला देते हुए सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया है। प्रियंका वाड्रा ने ट्वीट में कहा कि मीरजापुर के किसानों ने मेहनत से अपनी फसल लगाई थी और भाजपा सरकार की पुलिस ने खड़ी फसल रौंद दी। कल मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने किसानों के लिए खूब झूठे ऐलान किए और 24 घंटे भी नहीं बीते कि महिला किसानों के साथ सरकार का व्यवहार देखिए। किसान विरोध भरा है भाजपा के अंदर।

मीरजापुर जिले में एक कम्पनी डेडिकेट फ्रेट कारिडोर का काम करा रही है। इसी को लेकर रविवार को ठेका कंपनी द्वारा खड़ी गेहूं की फसल को रौंदने का कुंडाडीह जादवपुर गांव के किसानों, महिलाओं ने विरोध​ किया। उन्होंने जेसीबी व पोकलैंड के सामने लेटकर अपना विरोध दर्ज कराया। पुलिस ने किसानों को हटाने की कोशिश की और नहीं मानने पर लाठीचार्ज किया, जिसमें कई किसान घायल हो गए। इसी को लेकर प्रियंका सरकार पर हमलवार हैं।

वहीं सोमवार को मीरजापुर के अदलहाट थानाक्षेत्र में किसानों की फसल रौंदने के विरोध में किसानों ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर अपना विरोध दर्ज कराया। उन्होंने प्रशासन से मौके पर सम्बन्धित कम्पनी को काम करने से रोकने का आदेश देने को कहा। किसानों के मुताबिक यह समय उनकी गेहूं की फसल काटने का है। लगभग दो सौ बीघे जमीन पर बोई गई गेहूं की फसल बर्बाद की जा रही है। किसानों के विरोध करने पर पुलिस उन्हीं पर लाठियां बरसा रही है। किसानों का कहना है कि इस मामले को लेकर प्रशासन के साथ बातचीत में फसल कटने और नपाई के बाद अधिग्रहण किये जाने की बात तय हुई थी।

यह सब पंचायत में हुआ। इसके बाद भी इस तरह जेसीबी लाकर आनन-फानन में फसलों को तबाह करने का कोई औचित्य नहीं है। प्रियंका वाड्रा इससे पहले भी भाजपा पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाती रही हैं। बीते दिनों सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का एनपीए 7.27 लाख करोड़ रुपये को लेकर भी उन्होंने मोदी सरकार पर हमला बोला था। प्रियंका ने कहा था कि जब हमारे देश के किसान कर्ज के बोझ तले दब रहे हैं तब किस नीति के तहत भाजपा ने अमीर दोस्तों के कर्ज माफ किए? सरकार इन सवालों से बच नहीं सकती।

वहीं योगी आदित्यनाथ सरकार के बजट पर भी वह किसान विरोधी होने का आरोप लगा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का बजट आया है। किसानों की आवारा पशुओं की समस्या का हल उसमें से गायब है। गन्ने का बाकी भुगतान गायब है। किसानों का फसल बर्बादी का मुआवजा गायब है। किसानों की फसल के दाम की बात गायब है।

Next Story
Share it