Top
Action India

खरीद एजेंसियों के पास अटके 50 करोड़ रुपये

खरीद एजेंसियों के पास अटके 50 करोड़ रुपये
X

शाहाबाद मारकंडा। एएनएन (Action News Network)

खरीद एजेंसियों के पास जीरी के 50 करोड़ रुपए अटके हैं, जिससे किसानों व व्यापारियों में रोष है। आढ़तियों ने मांग की है कि यह भुगतान उन्हें जल्द से जल्द किया जाये। महर्षि मारकंडेश्वर कच्चा आढ़ती एसोसिएशन, न्यू ग्रेन मार्कीट शाहाबाद के प्रधान धनपतराय अग्रवाल ने रविवार को कहा कि मंडी में जीरी की खरीद बंद हो चुकी है। बासमती धान सुचारु रूप से बिक रहा है। सरकार किसानों को आढ़तियों के माध्यम से भुगतान कर रही है, जिससे किसान और व्यापारी सभी संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी यही प्रक्रिया जारी रहे।

कटाई खत्म, लौटने लगे प्रवासी मजदूर
जगाधरी (निस) : धान का सीजन खत्म होने के साथ ही यूपी, बिहार सहित अन्य राज्यों से आ रहे प्रवासी मजदूर वापस लौटने लगे हैं। इसके चलते रेलवे स्टेशन व बस अड्डे पर प्रवासी मजदूरों की भीड़ देखी जा सकती है। गेहूं व धान की फसल कटाई के सीजन में यहां पर यूपी, बिहार आदि राज्यों से बड़ी संख्या में मजदूर आते हैं। ये यहां पर ठेकेदार के माध्यम से काम करते हैं। खेतों के अलावा ये मजदूर मंडियों में काम करते हैं। काम खत्म होने के बाद इन प्रवासी मजदूरों ने अपने गांवों को लौटना शुरू कर दिया है। यूपी के जिला गोंडा, आजमगढ़ आदि इलाके से आए जुगल कुमार, रमाकांत, मनोज कुमार, लक्ष्मी नारायण आदि ने बताया कि वे यहां पर सितंबर के पहले हफ्ते में आ गए थे। जिले में हजार से ज्यादा उनके साथी आए थे। उनका कहना है कि अब सभी ने अपने घरों को लौट रहे हैं। अप्रैल माह में गेहूं की फसल कटाई के समय फिर आएंगे। उस समय गेहूं की फसल कटाई व पैडी रोपाई तक यहीं रहते हैं।

Next Story
Share it