अन्तर्राष्ट्रीय

नीदरलैंड के एम्सटर्डम विश्वविद्यालय में इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन अमेरिकी विश्वविद्यालयों से पहुंचा

 एमस्टर्डम

नीदरलैंड पुलिस ने फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारी छात्रों के खिलाफ बुलडोजर का इस्तेमाल किया है और उन्हें खदेड़ दिया है. नीदरलैंड की एम्सटर्डम यूनिवर्सिटी में बड़ी संख्या में फिलिस्तीन के समर्थन में छात्र-छात्राएं धरने पर बैठे हैं. पुलिस ने इनके कैंप को उखाड़ने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल किया और लगभग 125 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है.

नीदरलैंड पुलिस ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर एक बयान भी जारी किया कि ये कदम "कानून व्यवस्था बहाल करने के लिए आवश्यक थे" क्योंकि विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया था.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो में दंगा नियंत्रक पुलिस को फिलिस्तीन समर्थक छात्रों द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को हटाने के लिए बुलडोजर चलाते हुए दिखाया गया है. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए लाठियों और शील्ड का उपयोग किया है. पुलिस ने उपद्रवियों को पीटा भी और उनके तंबू हटा दिए.

पुलिस ने एक बयान में कहा है कि, "इस तरह के विरोध प्रदर्शन ने बहुत ही असुरक्षित स्थिति पैदा कर दी थी, बैरिकेड्स के कारण आपातकालीन सेवाओं को साइट पर पहुंचने में दिक्कत हो रही थी."

एम्सटर्डम विश्वविद्यालय से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि दिन में तो विरोध प्रदर्शन से जुड़ी गतिविधियों को तो वे सपोर्ट करते हैं, लेकिन रात में भी वे छात्रों को ऐसा करने की इजाजत नहीं दे सकते हैं. इन प्रदर्शनकारी छात्रों की मांग है कि विश्वविद्यालय इजरायल से अपने सभी शैक्षणिक संपर्क खत्म कर ले.

एम्सटर्डम विश्वविद्यालय में इजरायल के खिलाफ ये प्रदर्शन अमेरिकी विश्वविद्यालयों से पहुंचा है. अमेरिका के कई विश्वविद्यालयों में अभी छात्र फिलिस्तीन के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे हैं. ये छात्र फिलिस्तीन पर इजरायली हमलों को तत्काल रोकने की मांग कर रहे हैं.

अमेरिका से निकला ये विरोध प्रदर्शन यूरोप के कई राज्यों में फैल रहा है. यहां छात्र ' फिलिस्तीन'के नारे लगा रहे हैं.

बता दें कि इजरायल के विरोध में अमेरिका के कई विश्वविद्यालयों में प्रदर्शन हो रहे हैं. ये प्रोटेस्ट राजधानी वॉशिंगटन सहित देशभर के 22 से ज्यादा राज्यों में हो रहे हैं. इनमें कोलंबिया यूनिवर्सिटी, कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, येल यूनिवर्सिटी, न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी, जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी, ब्राउन यूनिवर्सिटी, अमेरिकन यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड, कॉर्नैल यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिल्वेनिया, प्रिंसटन यूनिवर्सिटी, टेम्पल यूनिवर्सिटी, नॉर्थ ईस्टर्न यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ पीटर्सबर्ग, यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफॉर्निया, यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन, इंडियाना यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन, यूनिवर्सिटी ऑफ मिनिसोटा, यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो, मियामी यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया और यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास शामिल हैं.

अमेरिका में प्रदर्शन कर रहे हजारों छात्रों ने गाजा में स्थायी सीजफायर की मांग की है. इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका की ओर से इजरायल को दी जा रही सैन्य सहायता रोकने की भी मांग की है.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button