Top
Action India

हिमाचल में 13 मई तक खराब रहेगा मौसम, छह जिलों में ओलावृष्टि का अलर्ट

शिमला । एएनएन (Action News Network)

हिमाचल प्रदेश में मई महीने में मौसम का मिजाज कुछ अलग ही नजर आ रहा है। राज्य के अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी देखने को मिल रही है। बीते 24 घंटों के दौरान लाहौल-स्पीति में दो सेंटीमीटर ताजा हिमपात हुआ, वहीं शिमला सहित विभिन्न क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ खूब बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक 9 मई से मौसम फिर करवट लेगा और 13 मई तक बारिश व बर्फबारी का दौर चलेगा। मध्यपर्वतीय इलाकों के तहत आने वाले छह जिलों शिमला, कुल्लू, चंबा, सोलन, सिरमौर और मंडी में 10 मई को अंधड़ के साथ भारी ओलावृष्टि की चेतावनी दी गई है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते मौसम के मिजाज बिगड़ेंगे। 9 से 13 मई तक समूचे राज्य में मौसम खराब रहेगा। मैदानी व मध्यपर्वतीय इलाकों में गरज के साथ बारिश व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में हिमपात के आसार हैं। 10 मई को मध्यवर्ती क्षेत्रों में भारी ओलावृष्टि का येलो अलर्ट रहेगा तथा इस दौरान लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।शिमला में बुधवार देर रात बारिश के साथ आंधी चली और बज्रपात भी हुआ। इससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई। बीते 24 घंटों में सिरमौर जिला के रेणुका में सर्वाधिक 30 मिमी बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा पालमपुर में 18, मंडी में 14, भरमौर व राजगढ़ में 11, चंबा में 9, जुब्बडहट्टी में 8, सलूणी, गग्गल व शिमला में 7 मिमी बारिश हुई।

लाहौल-स्पीति जिले का मुख्यालय केलंग सबसे ठंडा रहा, जहां न्यूनतम तापमन 0.3 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया। किन्नौर के कल्पा में पारा 1.9, कुफरी में 4.6, मनाली में 4.8, डल्हौजी में 5.9, शिमला में 8.3, भुंतर में 9.5, पालमुपर में 10, सोलन में 10.6, चंबा में 11.5, सुंदरनगर में 11.6, धर्मशाला व मंडी में 12.1, कांगड़ा में 14.3, हमीरपुर में 21.2 और बिलासपुर में 21.5 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया।

Next Story
Share it