Top
Action India

मरहट्टा का राम लक्ष्‍मण पायन जुड़ेगा श्रीराम वन गमन पथ से

सूरजपुर । एएनएन (Action News Network)

राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना राम वन गमन मार्ग में जिले के प्रतापपुर विकासखंड अंतर्गत आने वाले ग्राम मरहट्टा में भगवान राम वनवास के दौरान आए थे।दशकों से यहां स्थित लक्ष्मण पायन आस्था के केंद्र में शामिल है। लेकिन यह स्थान छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वपूर्ण परियोजना में शामिल नहीं था, अब मरहट्टा के गलफुली नदी के किनारे राम लक्ष्मण पायन श्री राम वन गमन पथ से जुड़ जाएगा। उक्त संबंध में कलेक्टर दीपक सोनी ने एक टीम गठित की है, ताकि जिले के सभी स्थानों का चिन्हांकन कर उनका विकास किया जा सके। कुछ दिन पहले से इस पर हिन्‍दुस्थान समाचार के द्वारा परियोजना में नाम शामिल न होने को लेकर ध्यानाकर्षण कराया गया था।

वहीं डॉ. प्रेमसाय स‍िंह ने शन‍िवार को कलेक्‍टर को इन स्थलों में सुविधाओ को विकसित करने के साथ कार्ययोजना अनुसार प्रस्ताव बनाने निर्देशित किया है। बताते चलें कि श्रीराम वन गमन पथ राज्य सरकार के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महत्वाकांक्षी योजना है। जिसमें ऐसे स्थानों को जोड़कर उन्हें पर्यटन के रूप में विकसित किया जाएगा, जहां भगवान राम वनवास के दौरान सीता माता व लक्ष्मण के साथ आये थे। यह योजना दो चरणों में पूरी होनी है। दूसरी तरफ इस परियोजना से प्रतापपुर विकासखण्ड के मरहट्टा के साथ अन्य स्थान छूट गए थे। अब मरहट्टा के राम लक्ष्मण पायन के साथ जिले के अन्य स्थानों के शामिल होने की संभावना बढ़ गई है।

कलेक्‍टर सूरजपुर दीपक सोनी ने ऐसे स्थानों के चिन्हांकन और पर्यटन के रूप में विकसित करने टीम गठित कर दी है। जिसमें वन मंडलाधिकारी अधिकारी जेआर भगत, सीईओ अश्वनी देवांगन, एसके विश्वकर्मा कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग, एसएस राजपूत कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी विभाग, गौस बैक व्यापम शिक्षक और मोहन साहू को शामिल किया गया है। इसके साथ कलेक्टर दीपक सोनी, पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा वन मंडल अधिकारी जेआर भगत द्वारा ओड़गी के सितालेखनी, लछमन पाव का संयुक्त रूप से भ्रमण कर स्थिति का जाएजा लिया और साथ ही संबंधित दल को उक्त मार्गो का चिन्हांकन कर सौंदर्यीकरण सहित पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने कहा गया है। मरहट्टा के ग्रामीणों ने यह जानकारी मिलने के बाद मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह व कलेक्टर दीपक सोनी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए प्रसन्नता जाहिर की है

मरहट्टा में यह है मान्यता

प्रभु श्रीराम, माता सीता और अपने भाई लक्ष्मण के साथ आये थे। गलफुली नाला में पत्थरों पर लक्ष्मण के पैरों के निशान आज भी मौजूद हैं। प्रतापपुर विकासखण्ड के ग्राम पंचायत मरहट्टा के ग्रामीणों की मान्यता है कि यह स्थान श्रीराम वन गमन पथ का हिस्सा है। यहां गणेश भगवान और गौ माता के पैरों के भी निशान हैं।

Next Story
Share it