Top
Action India

जेलों में बंद राजनीतिक कैदियों को किया जाये रिहा : मीर

जम्मू। एएनएन (Action News Network)

पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के अध्यक्ष गुलाम हसन मीर ने गुरूवार को कहा कि सरकार को चाहिए कि वो गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में सद्वावना के तौर पर विभिन्न जेलों में बंद राजनीतिक कैदियों और अन्य बच्चों की रिहाई करे।गुलाम हसन मीर और पीडीपी के महासचिव एवं पूर्व मंत्री दिलावर मीर ने जम्मू में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह बात कही।

उन्होंने कहा कि जम्मू व कश्मीर में यह परंपरा रही है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर सद्वावना के तौर जेलों में बंद कैदियों की रिहाई की जाती रही है। पीडीएफ अध्यक्ष ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वो इस परंपरा को जारी रखते हुए इस अवसर पर विभिन्न जेलों में बंद राजनीतिक कैदियों और जम्मू-कश्मीर व इसके बाहर विभिन्न जेलों में बंद बच्चों की रिहाई करे।

इसके साथ ही उन्होंने इंटरनेट सेवाओं को पूरी तरह से बहाल करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि इससे मीडिया से जुड़े लोगों के साथ ही व्यापारी वर्ग और पर्यटन उद्योग से जुड़े हुए लोग बुरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू व कश्मीर को बंदिशों से पूरी तरह से मुक्त किया जाना चाहिए।

वहीं, उन्होंने बारिश से बागवानों और किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए कदम उठाने की भी सरकार से मांग की। चुनावों के बारे में पूछे गए एक सवाल का उत्तर देते हुए गुलाम हसन मीर ने कहा कि इसके बारे में कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगी क्योंकि पहले विधानसभा की सीटों का परिसीमन होगा और उसके बाद ही चुनाव हो पायेंगें।

Next Story
Share it