Top
Action India

बेगूसराय : जहां-तहां खाएंगे तंबाकू, पीयेंगे सिगरेट तो जाएंंगे जेल

बेगूसराय : जहां-तहां खाएंगे तंबाकू, पीयेंगे सिगरेट तो जाएंंगे जेल
X

  • कोरोना समेत अन्य संचारी रोग फैलने से रोकने के लिए डीएम ने लगाया यह प्रतिबंध

बेगूसराय। एएनएन (Action News Network)

तंबाकू एवं तंबाकू जनित पदार्थ खाकर जहां-तहां थूकने और धुआं फैलाने वाले सतर्क हो जाएं। कोरोना जैसी महामारी से बचाने तथा स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान के तहत जहां-तहां थूकना, सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा) 2003 की धारा-4 के तहत बेेेगूसराय जिले में प्रतिबंधित कर दिया गया है। ऐसा करने पर दो सौ रुपया जुर्माना के या छह महीने तक की जेल की सजा हो सकती है। इस संबंध में जिला पदाधिकारी ने आदेश जारी कर दिया है। इस आदेश का पुलिस समेत सभी विभागों के अधिकारी कड़ाई से पालन करेंगे । यह आदेश मंगलवार से लागू हो गया है।

डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने बताया कि तंबाकू का सेवन स्वास्थ्य के लिए बड़े खतरों में से एक है। थूकना एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा है और संचारी रोगों के फैलने का प्रमुख कारण है। तंबाकू सेवन करने वालों की प्रवृत्ति यत्र-तत्र थूकने की होती है और इससे कोरोना (कोविड-19), इन्सेफेलाइटिस, यक्ष्मा, स्वाइनफ्लू समेत कई गंभीर बीमारियों के संक्रमण फैलने की प्रबल संभावना रहती है। तंबाकू सेवन करने वाले लोग गंदगी फैला कर वातावरण को दूषित करते हैं। विश्व स्वास्थ संगठन द्वारा कोरोना वायरस (कोविड-19) को विश्वव्यापी महामारी घोषित किया जा चुका है।

भारत एवं बिहार सरकार ने इस विश्वव्यापी महामारी की रोकथाम और बचाव के लिए कई तरह के दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसी आलोक में जन स्वास्थ्य की रक्षा के लिए बेगूसराय जिले के सभी सरकारी- गैर सरकारी कार्यालय, कार्यालय परिसर, स्वास्थ्य संस्थान, शैक्षणिक संस्था एवं थाना परिसर में खैनी, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, पान मसाला एवं जर्दा के उपयोग को पूर्ण पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। इससे संबंधित बोर्ड लगाया जा रहा है।

इस आदेश का उल्लंघन किए जाने पर भारतीय दंड संहिता की धारा 268 एवं 269 के तहत विधि विरुद्ध कार्रवाई करते हुए जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रमण फैलाने को लेकर छह माह तक की जेल, दो सौ रुपये तक जुर्माना किया जाएगा। डीएम ने बताया कि तंबाकू सेवन के उपरांत यत्र-तत्र थूकने को निषिद्ध करने के साथ-साथ वातावरण को स्वच्छ रखने में सहयोग के लिए यह कदम उठाया गया है। इससे कोरोना जैसी महामारी से बचने तथा स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान में अहम योगदान देने के साथ-साथ स्वास्थ्य की उच्च गुणवत्ता भी बनी रहेगी।

Next Story
Share it