Top
Action India

ग्लास फैक्टरी में गैस रिसाव की मॉक ड्रिल में खरा उतरा प्रशासन

ग्लास फैक्टरी में गैस रिसाव की मॉक ड्रिल में खरा उतरा प्रशासन
X

ऋषिकेश । एएनएन (Action News Network)

ऋषिकेश हरिद्वार मार्ग स्थित हिन्दुस्थान नेशनल ग्लास फैक्टरी मे बुधवार दोपहर गैस रिसाव होने की सूचना से अफरातफरी मच गई। बताया गया कि कई कर्मचारियों की हालत बिगड़ गई। चार लोगों की हालत गंभीर होने पर एम्स ले जाया गया है। दरअसल यह मॉक ड्रिल थी और प्रशासन तथा आपदा प्रबंधन की टीमें इसमें खरी उतरीं।

मॉक ड्रिल के दौरान गैस रिसाव की सूचना पर पहुंची आपदा प्रबंधन की टीम ने फैक्टरी में कार्यरत 115 लोगों को सुरक्षित निकाला । आठ लोगों मे से चार लोगों को बेहोशी की हालत मे एम्स रेफर किया गया है। चार लोगों को आपदा कैम्प आईडीपीएल फैक्टरी के ग्राउण्ड मे उपचार के लिए लाया गया। राज्य आपदा प्रबंधन टीम के निर्देशन में जिला आपदा प्रबंधन टीम द्वारा ऋषिकेश, सेलाकुई ,देहरादून, में जिला व स्थानीय प्रशासन को अलर्ट किय जाने के लिए किए गये मॉक ड्रिल के चलते उप जिलाधिकारी प्रेम लाल के निर्देशन में आईडीपीएल ग्राउंड में आपदा प्रबंधन का कंट्रोल रूम बनाया गया था।

इसमें आरटीओ, फायर ब्रिगेड ,सिंचाई विभाग, जल संस्थान के कर्मचारी व अधिकारी मौजूद थे। आरटीओ, फायर ब्रिगेड ,सिंचाई विभाग, जल संस्थान के अधिकारोंयों व कर्मचारियों सहित सभी उपकरणों के साथ कर्मचारियों को सूचित किया गया था।

मॉक ड्रिल के क्रम में पूर्वाह्न 11:30 बजे ग्लास फैक्टरी से सूचना प्राप्त हुई कि फैक्टरी में प्रोपेन गैस रिसाव हो गया है । इसकी सूचना पर तत्काल आपदा प्रबंधन की टीम अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंची। वहां बेहोश हुए कर्मचारियों को एम्स पहुंचाया गया तथा 115 कर्मचारियों को सुरक्षित कंट्रोल रूम लाकर उनका प्राथमिक उपचार कर छुट्टी दे दी गई ।

इस मौके पर उपस्थित उप जिलाधिकारी ने बताया कि मॉक ड्रिल के दौरान सभी विभागों का तालमेल अच्छा रहा। जिन्होंने एक घंटे के अंदर गैस रिसाव जैसी घटना पर नियंत्रण कर अपनी सक्रियता का परिचय भी दिया है। इस दौरान आपदा प्रबंधन की टीम में कोतवाली प्रभारी रितेश शाह के अतिरिक्त विजय डोभाल, सप्लाई निरीक्षक ऋषिकेश ,एआरटीओ डॉ अनीता चमोला, सिंचाई विभाग के अनुभव नौटियाल भी अपनी पूरी टीम के साथ मौके पर उपस्थित थे।

Next Story
Share it