Top
Action India

लॉक डाउन में लोगों को टेलिफोनिक चिकित्सकीय परामर्श दे रही संघ की मेडिकल टीम

कोलकाता । एएनएन (Action News Network)

कोरोना महामारी की वजह से किए गए लॉक डाउन में तमाम तरह की बीमारियों से परेशान लोगों की मदद को अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) जुड़े मेडिकल संगठन आगे आया है। नेशनल मेडिको आर्गेनाईजेशन (नमो) की चिकित्सकीय टीम जरूरतमंद मरीजों और उनके परिजनों को टेलीफोन के जरिए चिकित्सा और बचाव का आवश्यक परामर्श दे रही है। संगठन के अध्यक्ष डॉ. प्रभात सिंह ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एक अप्रैल से ही लोगों को टेलिफोनिक मदद दी जा रही है। अब तक 3000 से अधिक मरीजों को चिकित्सकीय सलाह दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के निर्देशों को मानते हुए केवल चुनिंदा अस्पतालों की आपातकालीन परिसेवाएं खुली हैं।

इस कारण कोरोना के अलावा दूसरे रोगों से ग्रसित लोग बेहद परेशानी में पड़े हुए हैं। इसको ध्यान में रखते हुए संगठन ने टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श देने की शुरुआत की थी। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल के प्रत्येक जिले में नमो की दो से चार टीम काम कर रही है। शाम आठ बजे से रात नौ बजे तक निर्धारित मोबाइल नंबर पर फोन करने पर किसी भी व्यक्ति को चिकित्सकीय सलाह दी जाती है। उन्होंने बताया कि संगठन से जुड़े करीब 100 डॉक्टर निरंतर लोगों को यह सेवा मुफ्त में दे रहे हैं। कोरोना की वजह से जब तक हालात सामान्य नहीं हो जाएंगे तब तक यह सेवा जारी रहेगी।

उन्होंने यह भी बताया कि लॉक डाउन के समय अधिकतर क्षेत्रों में ब्लड बैंक खून की कमी से जूझ रहे हैं इसीलिए संस्थान की ओर से तीन रक्तदान शिविर के आयोजन किए गए हैं।डॉ. प्रभात ने बताया कि ना केवल फोन बल्कि सोशल प्लेटफॉर्म के जरिए भी लोगों को चिकित्सकीय जानकारी और मदद उपलब्ध कराई जा रही है। लोगों को यह भी बताया जाता है कि किस इलाके में कौन से क्लीनिक अथवा लेबोरेटरी खुले हुए हैं। नमो के साथ-साथ समाजसेवा भारती नाम का संगठन भी जुड़ा हुआ है जो जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करा रहा है। संगठन के लोग चिकित्सकीय परामर्श के लिए वीडियो बनाकर फेसबुक, टि्वटर, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम जैसे सोशल प्लेटफॉर्म पर डाल रहे हैं जहां से लाखों लोगों को फायदा मिल रहा है।

Next Story
Share it