Top
Action India

रूस का तुर्की सेना पर इदलिब में विद्रोहियों का साथ देने का आरोप

रूस का तुर्की सेना पर इदलिब में विद्रोहियों का साथ देने का आरोप
X

मॉस्को। एएनएन (Action News Network)

रूस के रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि सीरिया के इदलिब प्रांत में विद्रोहियों के ठिकानों और तुर्की की सेना की निगरानी चौकियों को एकसाथ जोड़ दिया गया है। जहां से आस-पास के नागरिक इलाकों और सीरिया में रूस के एक हवाई ठिकानों पर तोपखाने से रोजाना हमले हो रहे हैं।

मेजर जनरल इगोर कोनाशेनकोव द्वारा लगाए गए इन आरोपों से रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उनके तुर्की समकक्ष तैय्यप एर्दोगन के बीच गुरुवार को मास्को में सीरिया पर आयोजित होने वाली एक बैठक से पहले तनाव बढ़ने की संभावना है। मास्को और अंकारा के बीच संबंध हाल के दिनों में गंभीर तनाव में आ गए हैं। पिछले दिनों लगभग 30 वर्षों में तुर्की की सेना पर हुए सबसे घातक हमले में इदलिब में एक हवाई हमले में 34 तुर्की सैनिक मारे गए थे। तुर्की ने सीरियाई सेना पर अपने हमलों को और बढ़ाते हुए इसका जवाब दिया है।

कोनाशेनकोव ने एक बयान में तुर्की पर आरोप लगाया है कि वह मास्को के साथ इदलिब के समझौतों के तहत अपने दायित्वों को पूरा करने में विफल रहा है। इसके बदले तुर्की असद के विरोधी विद्रोही बलों की मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि तुर्की ने इदलिब में एक मैकेनाइज्ड डिवीजन बनाने लायक सैनिकों को उतार दिया है। कोनाशेनकोव ने कहा कि यह पूरी तरह अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है। तुर्की की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई, जो इदलिब में हिंसा के बढ़ने के लिए मास्को को दोषी ठहराता है।

रूसी सेना ने एक रणनीतिक शहर को सुरक्षित करने में सीरिया की मदद की है। मास्को ने विद्रोहियों के खिलाफ नौ साल से चल रहे युद्ध में राष्ट्रपति बशर अल-असद का लंबे समय से समर्थन किया है।

Next Story
Share it