Action India

मोदी-शाह नहीं, दिग्विजय सिंह के निशाने पर सिर्फ सिंधिया

मोदी-शाह नहीं, दिग्विजय सिंह के निशाने पर सिर्फ सिंधिया
X

भोपाल। एएनएन (Action News Network)

आम तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी पर हमले करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का निशाना पिछले दो दिनों से बदल गया है। अब वे मोदी-शाह की जोड़ी पर निशाना नहीं साध रहे हैं, बल्कि उनका हर तीर ज्योतिरादित्य सिंधिया पर ही निशाना लगा रहा है।

वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जब से कांग्रेस छोड़ी है, पूरी प्रदेश कांग्रेस और उसके नेता बौखलाए हुए लग रहे हैं। विशेषकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह की बौखलाहट साफ नजर आ रही है। आम तौर पर भाजपा और उसके नेताओं पर निशाना साधने वाले दिग्विजय के निशाने पर अब सिंधिया ही हैं। कभी वे नाथूराम गोडसे की रिवाल्वर को लेकर तो सिंधिया परिवार के इतिहास को लेकर लगातार सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहे हैं।

शनिवार को दिग्विजय ने एक वीडियो को रिट्वीट किया है। ‘सिंधिया ने अपनी मां को धोखा दिया’ शीर्षक वाले इस वीडियो में बताया गया है कि 2001 में जब सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया का देहांत हो गया था, तब सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने सिंधिया को सहारा दिया। किस तरह वे सांसद, केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव बने। कैसे सिंधिया ने अपनी पार्टी को धोखा दिया और भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

इसके अलावा दिग्विजय ने 7-8 ट्वीट और किए हैं, वो भी सभी सिंधिया परिवार के बारे में हैं। इनमें दिग्विजय ने बताया है कि जब वे राघोगढ़ नगरपालिका के अध्यक्ष थे, तब राजमाता स्व. विजयराजे सिंधिया ने उन्हें भारतीय जनसंघ में शामिल हो जाने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन उन्होंने विनम्रतापूर्वक मना कर दिया था, क्योंकि उनकी विचारधारा जनसंघ की विचारधारा से मेल नहीं खाती थी।

Next Story
Share it