Top
Action India

लखनऊ में केडी सिंह स्टेडियम मेट्रो स्टेशन बंद करके सुरक्षा गार्ड बढ़ाए गए

लखनऊ में केडी सिंह स्टेडियम मेट्रो स्टेशन बंद करके सुरक्षा गार्ड बढ़ाए गए
X

सीएए के विरोध में प्रदर्शनों के बीच विपक्ष का सरकार पर हमला, पुलिस सतर्क

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन के चलते राजधानी लखनऊ में भी केडी सिंह बाबू स्टेडियम मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया गया है। मेट्रो स्‍टेशन पर टिकटों की बिक्री पर रोक भी लगाई गई है और मेट्रो स्टेशन पर सुरक्षा गार्ड बढ़ा द‍िए गए हैं। राजधानी सहित प्रदेश में प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस बेहद सतर्क है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह की ओर से वीडियो संदेश में अभिभावकों से बच्चों को प्रदर्शन में न भेजने की अपील की गई है। सियासी दलों की ओर से नागरिकता संशोधन एक्ट का लगातार विरोध किया जा रहा है।

राजधानी लखनऊ में प्रदर्शन को देखते हुए केडी सिंह बाबू स्टेडियम की मेट्रो लाइन बंद कर दी गई है। यहां पर प्रवेश और निकास द्वार बंद हैं और ट्रेनें नहीं रुक रही हैं। नॉर्थ साउथ कॉरिडोर के सभी स्टेशनों पर उद्घोषणा करायी जा रही है कि केडी सिंह स्टेडियम पर मेट्रो नहीं रुकेगी। लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने केडी स‍िंंह मेट्रो स्‍टेशन पर टिकटों की बिक्री पर रोक भी लगाई है। जनसम्पर्क अधिकारी पुष्पा बेलानी के मुताबिक मेट्रो स्टेशन पर सुरक्षा गार्ड बढ़ा द‍िए गए हैं। संदिग्ध यात्रियों को रोकने के निर्देश द‍िए गए हैं।

जनहित में सीएए को वापस ले केंद्र सरकार: मायावती
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती ने गुरुवार को ट्वीट किया कि देश व व्यापक जनहित में केन्द्र को चाहिए कि वह सीएए को वापस लेकर अर्थव्यवस्था की बदहाली, बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी, रुपये की गिरती कीमत आदि की राष्ट्रीय समस्याओं को दूर करने पर ध्यान केन्द्रित करे वरना जनता इनका भी हाल सन 2014 के कांग्रेस जैसा ही करने में देर नहीं करेगी। इससे पहले बसपा संसदीय दल ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर नागरिकता संशोधन एक्ट को वापस लेने की मांग की। पार्टी ने देश भर में निर्दोष छात्रों के खिलाफ पुलिस के अत्याचारों को देखने के लिए एक न्यायिक जांच का गठन करने का भी अनुरोध किया है।

सिर्फ सत्ता के लिए सीएए को लेकर आई भाजपा सरकार: अखिलेश
कांग्रेस व समाजवादी पार्टी ने विधानभवन में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास प्रदर्शन कर नागरिकता संशोधन एक्ट व राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर का विरोध किया। समाजवादी पार्टी ने सीएए के नाम पर देश में धर्म आधारित विभाजनकारी राजनीति, नौजवानों और छात्रों पर अत्याचार और केंद्र सरकार की विनाशकारी आर्थिक नीति से रोजगार खत्म होने का आरोप लगाया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र सरकार का यह कानून भेदभाव पूर्ण है। इस देश ने कभी भी जाति व धर्म के आधार पर किसी से भेदभाव नहीं किया है।

भाजपा की सरकार सिर्फ सत्ता पाने के लिए इस कानून को लेकर आई है। समाजवादी पार्टी इसका विरोध करती है। नागरिकता संशोधन एक्ट देश के खिलाफ है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव सीएए को लेकर लगातार केन्द्र सरकार का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि सीएए की वजह से दुनिया भर में हमारे देश की छवि को अपूरणीय क्षति हुई है। विश्व के कई नामी विश्वविद्यालयों में भी विरोध प्रदर्शन हुए हैं। भाजपा का राजहठ देश के भविष्य के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

Next Story
Share it