Top
Action India

जरूरतमंदों के लिए आसरा बनी 'आसरा'

जरूरतमंदों के लिए आसरा बनी आसरा
X

बांदा । एएनएन (Action News Network)

देश में जब से लॉक डाउन घोषित हुआ है तब से कई धार्मिक संगठन, राजनैतिक पार्टी, समाज सेवी संगठन के अलावा लोग अपने अपने तरीके से भी गरीबों की मदद में जुटे हैं ताकि इस मुश्किल घड़ी में कोई गरीब भूखा न सोने पाए। ऐसे में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और एक संस्था के पदाधिकारी मिल कर लॉक डाउन के पहले दिन से लगातार गरीबों को खाद्यान उपलब्ध करा रही है।

बांदा का एक छोटा सा सामाजिक संगठन आशियाना सोशल रिफॉर्मर एशोसिएशन (आसरा) जो अभी कुछ दिन पहले ही शुरू हुआ है। लॉक डाउन में काफी सक्रियता से गरीबो की सेवा में लगा है, इस संगठन की सैक्रेटरी शशि प्रजापति ने आज बताया कि उनकी संस्था उनके संगठन के लोगों और उनके माता पिता के सहयोग से चल रही है। संस्था में किसी तरह का सरकारीं धन नहीं आता है। संस्था अपने संगठन के पदाधिकारियों और मेरे मम्मी पापा के सहयोग से चल रही है उन्हीं के सहयोग से हम लोग गरीबों की इस लॉक डाउन में सेवा कर पा रहे है।

इस लॉक डाउन में गरीबों को खाने पीने की बहुत दिक्कते देखने को मिल रही थी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम लोगों ने लॉक डाउन की इस मुश्किल घड़ी में गरीबों की सेवा का मन बनाया और संगठन के सहयोग और माता पिता के सहयोग से हम लोग लगातार गरीबों को खाद्यान पहुंचा रहे है। जब तक हमे अपनों का आशीर्वाद मिलता रहेगा हम जनता की सेवा में समर्पित रहेगें। शशि प्रजापति ने बताया कि उनके द्वारा काशीराम कालोनी निम्निपार, काशीराम कालोनी हरदौली घाट, मर्दन नाका, जरैली कोठी, परशुराम तालाब के अलावा महुआ गांव में गरीबों को खाद्यान वितरण किया जा रहा हैै। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

Next Story
Share it