Action India

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दुश्मनों से हाथ मिला लिया : दिग्विजय सिंह

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दुश्मनों से हाथ मिला लिया : दिग्विजय सिंह
X

  • दुश्मनों के पाले में जाकर बैठ गए ज्योतिरादित्य

  • शिवपुरी पहुंचने पर पूर्व सीएम दिग्गी राजा ने साधा ज्योतिरादित्य पर निशाना

शिवपुरी । Action India News

मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर एक बार फिर से निशाना साधा है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस छोड़ने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने दुश्मनों से हाथ मिला लिया। मंगलवार को शिवपुरी पहुंचे दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिस पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्या-क्या नहीं कहा।

उनको लोकसभा चुनाव हराया और हारने के बाद उसी पार्टी में चले गए जिसने उन्हें हराया। यह तो दुश्मन से हाथ मिलाना हो गया। यह क्या औचित्य है।उन्होंने कहा कि आज तक मैं इस बारे में समझ नहीं पाया हूं।

जिस दुश्मन से आप लड़ रहे हो और आप उसी के पाले में जाकर बैठ जाओ। यह मुझे उनसे उम्मीद नहीं थी। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह मंगलवार को शिवपुरी दौरे पर आए थे। इस दौरान वह जिले के खोड़ में पहुंचे और यहां पर प्रोफेसर एपीएस चौहान के निधन पर शोक संवेदनाएं व्यक्त कीं।

रन्नौद में दिग्विजय सिंह के हाय-हाय के नारे लगाए भाजपा कार्यकर्ताओं ने- शिवपुरी दौरे के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को रन्नौद में भाजपा कार्यकर्ताओं ने हाय-हाय के नारे लगाए। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिग्विजय सिंह के काफिले को रोकने के प्रयास किया। भाजपा कार्यकर्ताओं हाय-हाय के बैनर हाथ में लिए हुए थे। पुलिस जवानों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोका और पूर्व सीएम की कारों का काफिला आगे बढ़ गया।

प्रो एपीएस चौहान को दी श्रद्धांजलि -पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने मंगलवार को ग्राम खोड पहुँचकर प्रो एपीएस चौहान के आकस्मिक निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की। इस दौरान पूर्व सीएम दिग्गी राजा के साथ पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह, केपी सिंह, चंदेरी विधायक गोपाल सिंह सहित बुंदेलखंड के अनेक पुरानी रियासतों के लोग मंगलवार को खोड पहुँचे।

दिग्विजय सिंह ने प्रो चौहान को एक डायनेमिक व्यक्तित्व का धनी बताया और कहा कि उनके जाने से उन्हें निजी क्षति हुई है जो कभी पूर्ण नही हो सकती है। इस अवसर पर प्रो चौहान की पत्नी मंजू सिंह, भाई अरुण प्रताप सिंह को पूर्व मुख्यमंत्री ने ढांढस बंधाया।

Next Story
Share it