Action India

मप्र में कोरोना से अब तक 239 की मौत, संक्रमितों की संख्या 4500 के पार

मप्र में कोरोना से अब तक 239 की मौत, संक्रमितों की संख्या 4500 के पार
X

भोपाल । एएनएन (Action News Network)

मध्यप्रदेश में तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां कोरोना के 83 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत पुष्टि हुई है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 4500 के पार पहुंच गई है। राज्य में अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 239 हो गई है।

इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने शुक्रवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा गुुरुवार को देर रात 1053 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की। इनमें 992 सेम्पल निगेटिव और 61 सेम्पल पॉजिटिव आए हैं। इसके अलावा दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही इंदौर में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 2299 हो गई है, जबकि यहां अब तक 98 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा बुरहानपुर जिले में 13, जबलपुर में छह, खरगौन में दो और सागर जिले में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

इन नये 83 मामलों के साथ अब प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 4426 से बढक़र 4509 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 2299, भोपाल 900, उज्जैन 274, जबलपुर 163, खरगौन 99, धार 89, खंडवा 81, रायसेन 65, बुरहानपुर 108, मंदसौर 57, देवास 58, नीमच 45, होशंगाबाद 37, ग्वालियर 31, बड़वानी 26, मुरैना 25, रतलाम 28, आगरमालवा 13, विदिशा 13, सागर 15, शाजापुर 08, भिण्ड 10, छिंदवाड़ा 05, सतना 07, श्योपुर 04, सीधी 04, अलीराजपुर 03, अनूपपुर 03, शहडोल 03, हरदा 03, शिवपुरी 03, टीमकगढ़ 03, रीवा 07, डिंडौरी 02, बैतूल 01, अशोकनगर 02, पन्ना 01, झाबुआ 07. सीहोर 04, गुना 01, मंडला 01, सिवनी का एक मरीज शामिल है।

इंदौर में हुई दो मौतों के बाद प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 239 हो गई है। मृतकों में सबसे अधिक इंदौर के 98, भोपाल 35, उज्जैन 45, खरगौन 08, देवास 07, बुरहानपुर 09, धार, 02, जबलपुर 08, खंडवा 08, रायसेन 03, छिंदवाड़ा 01, मंदसौर 04, होशंगाबाद 03, नीमच 01, अशोकनगर 01, आगर मालवा 01, सतना 01, सागर 01, ग्वालियर 01 और शाजापुर का एक व्यक्ति शामिल है। राज्य में अब तक 2171 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि एक्टिव प्रकरण 2018 हैं। स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या एक्टिव प्रकरण से अधिक है।

Next Story
Share it