Action India

लॉक डाउन का इतना डर कि दो ट्रेन से उतरे मात्र 50 यात्री

लॉक डाउन का इतना डर कि दो ट्रेन से उतरे मात्र 50 यात्री
X

गुना । Action India News

जिले में पूर्व घोषित दो दिनी संपूर्ण लॉकडाउन (चांचौड़ा बीनागंज को छोडक़र) शनिवार और रविवार कोहोने का असर शुक्रवार को सभी जगह देखने को मिला। जिन भाई बहनों को रक्षाबंधन त्यौहार मनाने के लिए एक दूसरे के पास जाना था।

उन्होंने रक्षाबंधन वाले दिन का इंतजार न करते हुए दो दिन पहले ही जो साधन मिला उससे निकल गए। यही कारण है कि शुक्रवार को अन्य दिनों की अपेक्षा यात्रियों की संख्या अधिक देखी गई। हालांकि यह संख्या भी आम दिनों की तुलना में न के बराबर थी।

जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए प्रशासन द्वार लगाई गई बंदिशों का असर हर सेक्टर पर देखने को मिल रहा है। इन दिनों जहां गुना रेलवे स्टेशन पर मात्र दो ही यात्री टे्रनें आ रही हैं, इनमें एक सावरमती एक्सप्रेस सुबह 11 बजे इंदौर की तरफ से आती है जबकि दूसरी सावरमती एक्सप्रेस अशोकनगर की तरफ से दोपहर 12 बजे स्टेशन पहुंचती है।

सुबह 11 बजे वाली ट्रेन से मात्र 40 यात्री गुना स्टेशन पर उतरे वहीं 21 यात्री ट्रेन में सवार हुए। इसके बाद दोपहर 12 बजे आई टे्रन से मात्र 10 यात्री ही उतरे। इन दोनों ट्रेनों में यात्रियों की काफी कम संख्या होने की मुख्य वजह सिर्फ रिजर्वेशन वाले यात्रियों को ही यात्रा करने की अनुमति दी जाना बताया जा रहा है।

रेलवे स्टेशन पर चैकिंग के लिए तीन दल तैनात

प्रशासन द्वारा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की चैकिंग के लिए एक नहीं बल्कि तीन तैनात किए हैं। इनमें एक स्वास्थ्य विभाग का दल यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग करता है। साथ ही उनसे ट्रेवलिंग हिस्ट्री पूछकर कोरोना से संबंधित लक्षणों के बारे में जानकारी लेता है। दूसरे दल के रूप में शिक्षक तैनात हैं, जो यात्रियों के नाम, पता के अलावा अन्य जरूरी जानकारी दर्ज करता है। तीसरे दल के रूप में रेलवे के कर्मचारी तैनात हैं, जो यात्रियों की संपूर्ण जानकारी को दर्ज करते हैं।

Next Story
Share it