Top
Action India

प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आए सोलन उपायुक्त केसी चमन

प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आए सोलन उपायुक्त केसी चमन
X

  • उपायुक्त सोलन ने झारखंड में फंसे हिमाचलियों की वापसी का किया बंदोबस्त

सोलन । एएनएन (Action News Network)

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों के पलायन का सिलसिला जारी है। एक तरफ जहां हिमाचल प्रदेश से प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घर भेजा जा रहा है तो दूसरी तरफ अन्य राज्यों में फसें मजदूरों को बुलाने का भी प्रयास जारी है। जगह-जगह फंसे प्रवासी मजदूर घर वापसी के लिए सोशल मीडिया से लेकर सरकार तक संपर्क साध रहे हैं। ऐसी विकट परिस्थिति में सोलन के जिला उपायुक्त के.सी. चमन प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आए हैं।

जिला उपायुक्त के प्रयासों से मंडी, कांगड़ा और हमीरपुर के रहने वाले 17 से अधिक लोगों को सुरक्षित घर वापसी कराई जा रही है। ये प्रवासी मजदूर झारखंड में पिछले तीन महीने से फंसे थे और घर वापसी के लिए लोगों से मदद की गुहार लगा रहे थे। जब इन मजदूरों की कहीं सुनवाई नहीं हुई तो इन्होंने जिला उपायुक्त के.सी. चमन से फोन पर बात कर मदद की अपील की। जिसके बाद तुरन्त उपायुक्त ने इनकी वापसी के प्रयास तेज कर दिया। उपायुक्त का कहना है कि झारखंड में फंसे कई लोगों का फोन आया कि वे लोग लॉकडाउन के चलते वहां फंसे हैं और अपने-अपने घर जाना चाहते हैं। इसके बाद उपायुक्त ने हिमाचल से झारखंड के धनबाद गयी हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों से सम्पर्क साधकर उन सभी 17 लोगों का परमिट बनावाया और उनकी घर वापसी सुनिश्चित कराई। उपायुक्त सोलन का कहना है कि संकटकाल में हर जरूरतमंद की मदद करना हमारा कर्तव्य होना चाहिए।

वहीं, झारखंड में फंसे मान सिंह और प्रिंस का कहना है कि वे करीब तीन महीनों से झारखंड में फंसे थे। बहुत से अधिकारियों से बात की लेकिन घर वापसी नहीं हो पाई। इसके बाद उपायुक्त सोलन से हमारी बात हुई। उपायुक्त महोदय से बात करने के बाद हमें अपने घर जाने की उम्मीद जगी। उन्होंने कहा कि उपायुक्त सोलन ने उनके घर 6जाने के लिए बस का इंतजाम किया है, हम उनके प्रति आभार व्यक्त करते हैं।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान उपायुक्त सोलन इससे पहले भी पश्चिम बंगाल में फंसी एक बारात के लिए मददगार बनकर सामने आए थे। उस समय भी हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना से मार्च में गई बारात महीनों बाद घर वापस लौट पाई। सोलन जिला उपायुक्त के.सी. चमन के प्रयासों से जिन प्रवासी मजदूरों की वापसी हो रही है, उनमें मंडी के मान सिंह, चन्द्रकांत, राजीव, प्रियंका सोनी, श्रुति, देवांश जिला कांगड़ा के धरम देव, मंगल देव, राजेश कुमार, संजीव कुमार, सुमित, विपिन कुमार, सलमान तथा हमीरपुर के राजकुमार चौहान सहित जिला कुल्लू के चंदन शर्मा और जिला सोलन के लक्षणा व ज्योति शामिल हैं।

Next Story
Share it