Top
Action India

जिया भराली नदी के तट कटाव के किसान चिंतित

जिया भराली नदी के तट कटाव के किसान चिंतित
X

शोणितपुर । Action India News

बाढ़ के बाद अब बड़े पैमाने पर तट कटाव से किसानों की हजारों बीघा कृषि भूमि नदी में समा रही है। जिसकी वजह के किसान बेहद चिंतित हैं।

जिया भराली नदी के किनारे रहने वाले किसानों का कहना है कि इलाके में पांच हजार से अधिक लोग रहते हैं। बाढ़ के कारण नदी का फैलाव काफी अधिक हो गया है। जिसकी वजह से हजारों बीघा कृषि भूमि नदी में समा गयी है। बाढ़ के कारण धान व अन्य फसल नष्ट हो गई है। बाढ़ से जहां फसल बर्बाद हो गई, वहीं अब तट कटाव की वजह से कृषि भूमि नदी में समाती जा रही है। जिसकी वजह से किसान बेहद परेशान हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कुछ वर्षों से सरकार द्वारा तट कटाव को रोकने लिए कई कदम उठाए गए हैं लेकिन, कोई फायदा नहीं हुआ है। जलस्तर बढ़ने से तट कटाव जारी रहने से आने वाले दिनों में जिया भराली नदी क्षेत्र काफी बड़ा हो गया है।

जिसकी वजह से बालीगांव, कोलाबाड़ी, सिलोनी, बोकागांव आदि 10 से 12 गांव से लेकर तेजपुर युनिवर्सिटी इलाके तक जलमग्न होगा। बाढ़ के चलते खेती तो दूर की बात है रहने के लिए झोपड़ी भी नहीं मिलेगी। किसानों ने बताया है कि तेजपुर लोकसभा सांसद पल्लव लोचन दास को तट कटाव की समस्या से अवगत कराया गया है। लेकिन, इसका समाधान कब होगा इसको लेकर संसय बना हुआ है।

Next Story
Share it