Action India

शार्दुल ठाकुर,वॉशिंगटन सुंदर सहित 6 भारतीय क्रिकेटरों को एसयूवी कार तोहफे में देंगे आनंद महिंद्रा

शार्दुल ठाकुर,वॉशिंगटन सुंदर सहित 6 भारतीय  क्रिकेटरों को एसयूवी कार तोहफे में देंगे आनंद महिंद्रा
X

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़

महिंद्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड कंपनी के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में भारतीय क्रिकेट टीम को 2-1 से मिली ऐतिहासिक जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले छह युवा खिलाड़ियों को एसयूवी कार (महिंद्रा थार एसयूवी) देने की घोषणा की है। इन छह खिलाड़ियों में मोहम्मद सिराज, टी नटराजन, शार्दुल ठाकुर, वॉशिंगटन सुंदर, शुभम गिल और नवदीव सैनी शामिल हैं।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया,"ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल की ऐतिहासिक श्रृंखला में छह युवकों ने अपना पदार्पण किया(शार्दुल इससे पहले 1 मैच में बहुत ही कम समय के लिए मैदान में उतर चुके हैं)। इन युवाओं ने भारत में युवाओं की भावी पीढ़ियों के लिए सपने देखना और उन्हें पूरा करने को संभव बना दिया है।"

उन्होंने आगे कहा,"सच्चे उदय की कहानी। उत्कृष्टता की खोज में कठिन बाधाओं पर कैसे काबू पाया जाए। वे जीवन के सभी क्षेत्रों में एक प्रेरणा के रूप में उभरे हैं। यह मुझे बहुत खुशी देता है कि मैंनें इन सभी युवा खिलाड़ियों को अपने स्वयं के खाते से एक नया उपहार देने का फैसला किया है।"

महिंद्रा ने आगे लिखा, "इस उपहार को देने का केवल कारण युवा लोगों को खुद पर विश्वास करने के लिए प्रेरित करना है। बहुत-बहुत शुभकामनाएं मोहम्मद सिराज, टी नटराजन, शर्दुल ठाकुर, वॉशिंगटन सुंदर, शुभमन गिल और नवदीप सैनी को मैं महिंद्रा ऑटो से निवेदन करता हूं कि इन खिलाड़ियों को जल्द से जल्द इनकी थार गिफ्ट कर दी जाए।"

बता दें कि ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट मैच में रिषभ पंत और शुभमन गिल के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत ने 3 विेकेट से शानदार जीत दर्ज की थी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत में मोहम्मद सिराज का प्रदर्शन बेहतरीन था। उन्होंने श्रृंखला में 13 विकेट हासिल किया था। आखिरी टेस्ट मैच की दूसरी पारी में उन्होंने 5 विकेट लिया था।

इसके अलावा इसी मैच की पहली पारी में शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर ने 123 रन की साझेदारी कर 30 साल पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया था। उल्लेखनीय है कि पहली बार भारत ने ब्रिस्बेन में जीत हासिल की और साथ ही ऑस्ट्रेलिया की टीम 32 साल के इतिहास में पहली बार ब्रिस्बेन में कोई टेस्ट मैच हारी।


Next Story
Share it