Action India

टेनिस में जीत और हार दोनों को स्वीकार करना चाहिए : राफेल नडाल

टेनिस में जीत और हार दोनों को स्वीकार करना चाहिए : राफेल नडाल
X

पेरिस। एक्शन इंडिया न्यूज़

फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में सर्बिया के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच के हाथों मिली हार के बाद स्पेन के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने कहा कि टेनिस में जीत और हार दोनों को स्वीकार करना चाहिए।

बता दें कि फ्रेंच ओपन सेमीफाइनल में विश्व के नंबर 1 खिलाड़ी जोकोविच ने चार घंटे तक चले मैराथन मुकाबले में नडाल को 3-6, 6-3, 7-6 (4), 6-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

मैच के बाद नडाल ने कहा कि टेनिस में जीत और हार दोनों को स्वीकार करना चाहिए। यह कोई आपदा नहीं है और यह सिर्फ टेनिस कोर्ट पर एक हार है।

नडाल ने स्पेनिश प्रेस से कहा,"हमारे खेल में, आपको जीत और हार दोनों को स्वीकार करना चाहिए। मुझे पता है कि मैं टूर्नामेंट 15, 18, 20 बार नहीं जीत सकता। यह कोई आपदा नहीं है।"

उन्होंने कहा,"मैं दुखी हूं, मैं साल के सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में हार गया। लेकिन यह सिर्फ एक टेनिस कोर्ट पर हार है जिसे आप जानते हैं, और कल मैं अपने परिवार के साथ घर पर रहूंगा।"

नडाल ने यह भी कहा कि उन्होंने यह तय नहीं किया है कि 28 जून से शुरू होने वाले विंबलडन से पहले वह आगे क्या करेंगे।

गौरतलब है कि नडाल को हराने के साथ ही जोकोविच अब इतिहास के पहले ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने नडाल को दो बार रोलैंड-गैरोस में हराया है।


Next Story
Share it