Top
Action India

किसी भी खिलाड़ी का ओलंपिक टीम में स्थान पक्का करना सुनिश्चित नहीं : नमिता टोप्पो

किसी भी खिलाड़ी का ओलंपिक टीम में स्थान पक्का करना सुनिश्चित नहीं : नमिता टोप्पो
X

बेंगलुरु। एक्शन इंडिया न्यूज़

टोक्यो ओलंपिक खेलों के शुरू होने में अब 50 दिनों से भी कम का समय बचा है। भारतीय महिला हॉकी ओलंपिक कोर संभावित समूह के सदस्यों में ओलंपिक को लेकर बहुत उत्साह है, जो वर्तमान में साई सेंटर, बेंगलुरु में एक जैव सुरक्षित वातावरण में प्रशिक्षण कर रही है। भारतीय टीम की वरिष्ठ खिलाड़ी नमिता टोप्पो ने कहा है कि ओलंपिक को लेकर टीम में जोश के साथ थोड़ी घबराहट भी है।

उन्होंने कहा, "पिछले तीन वर्षों में, युवा खिलाड़ियों के एक बहुत ही प्रतिभाशाली समूह ने सीनियर कोर ग्रुप में जगह बनाई है, जिन्होंने वास्तव में अंतरराष्ट्रीय दौरों में टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है और उन्हें एशियाई खेलों और विश्व कप सहित अन्य बड़े टूर्नामेंटों में खेलने का अनुभव भी प्राप्त हुआ है। जिसका अर्थ है कि किसी भी खिलाड़ी का ओलंपिक टीम में स्थान पक्का करना सुनिश्चित नहीं है।"

नमिता, जिन्होंने भारत के लिए 160 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और 36 वर्षों में पहली बार रियो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली टीम का भी हिस्सा थीं, ने कहा कि सभी खिलाड़ियों को हर एक सत्र में अपना सब कुछ देना होगा यदि वे खुद को टोक्यो के लिए फाइनल 16 में देखना चाहते हैं।

उन्होंने कहा,"हम दोगुनी मेहनत कर रहे हैं और कोर ग्रुप के भीतर प्रतिस्पर्धा की एक बड़ी भावना है, साथ ही खिलाड़ियों के बीच एक मजबूत टीम-कम-फर्स्ट मानसिकता भी है।"

टोप्पो ने ओलंपिक से पहले टीम की तैयारियों और फोकस के क्षेत्रों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, "फिटनेस फोकस का एक प्रमुख क्षेत्र बना हुआ है। टोक्यो में मौसम काफी चुनौतीपूर्ण होने वाला है और हमारे प्रशिक्षण सत्रों की योजना उसी आधार पर बनाई गई है।"

उन्होंने कहा,"हम उस मैच-मोमेंटम को बनाने के लिए बहुत सारे आंतरिक मैच भी खेल रहे हैं। ओलंपिक शुरू होने में 50 दिनों से भी कम समय के साथ टीम में बहुत उत्साह है और हम किसी भी बाहरी कारक को अपने उत्साह को प्रभावित नहीं करने दे रहे हैं।"

दूसरी बार ओलंपिक में खेलने की संभावना पर बोलते हुए टोप्पो ने कहा, "अगर मुझे दूसरी बार ओलंपिक में खेलने का मौका मिलता है तो यह शानदार होगा। लेकिन अभी के लिए, मेरा ध्यान कड़ी मेहनत जारी रखने पर है।"


Next Story
Share it