Action India
खेल

यादों के झरोखे से : आज ही के दिन टेस्ट अर्धशतक बनाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने थे सचिन

यादों के झरोखे से : आज ही के दिन टेस्ट अर्धशतक बनाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने थे सचिन
X

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़


भारतीय क्रिकेट के इतिहास में आज का दिन काफी यादगार है। 32 साल पहले आज ही के 24 नवंबर 1989 को मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर टेस्ट अर्धशतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के बल्लेबाज बने थे।


तेंदुलकर, जो उस समय सिर्फ 16 साल के थे, ने भारत और पाकिस्तान के बीच 1989 में फैसलाबाद में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में यह उपलब्धि हासिल की। उस मैच में, भारत केवल 101 रनों पर 4 विकेट खोकर संघर्ष कर रहा था, जब तेंदुलकर (59) और संजय मांजरेकर (76) ने पांचवें विकेट के लिए 143 रन की साझेदारी की।


सचिन ने 1989 में कराची में खेले गए भारत और पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच से पदार्पण किया था। उसी मैच में पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने भी पदार्पण किया था।


इन वर्षों में, तेंदुलकर ने इतिहास में अपना नाम 'सर्वकालिक महान बल्लेबाज' के रूप में दर्ज किया है और उन्हें 'मास्टर ब्लास्टर' के रूप में भी जाना जाता है।

तेंदुलकर ने वर्ष 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। वह आज भी टेस्ट और एकदिवसीय दोनों में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बने हुए हैं। उनके नाम सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने का रिकॉर्ड भी है।


2019 में, तेंदुलकर आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल होने वाले छठे भारतीय बने। 46 वर्षीय सचिन ने 16 साल की उम्र में भारत के लिए पदार्पण किया। उन्होंने सभी प्रारूपों में 34,357 रन बनाए, जो दूसरे नंबर पर काबिज श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा से 6,000 रन अधिक है।

Next Story
Share it