हरियाणा

रेडक्रॉस दिवस के अवसर पर होगा राज्य स्तरीय कार्यक्रम

टीम एक्शन इंडिया/चंडीगढ़
भारतीय रेडक्रॉस समिति, हरियाणा राज्य शाखा द्वारा 8 मई को विश्व रेडक्रॉस दिवस के अवसर पर पंचकूला के सेक्टर 14 स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसमें हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करेंगे जबकि हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि होंगे। यह जानकारी हरियाणा राज्य रेडक्रॉस सोसायटी के महासचिव मुकेश अग्रवाल ने आज पंचकूला में आयोजित एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए दी। इस अवसर पर हरियाणा रेडक्रॉस शाखा की उपाध्यक्ष श्रीमती सुषमा गुप्ता भी उपस्थित थी। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर राज्य के 22 जिलों की रेडक्रॉस शाखा के सचिव उपस्थित होंगे तथा प्रत्येक जिला की ओर से उनकी गतिविधियों से संबंधित प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले जिलों की स्टालों को क्रमश: 1 लाख, 75 हजार तथा 50 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 8 मई को रेडक्रॉस आन्दोलन के जन्मदाता सर जीन हेनरी ड्यूना की वार्षिक जयंती होती है। वर्ष 1863 में रेडक्रॉस का शुभारम्भ हुआ। तभी से रेडक्रॉस मानव सभ्यता से जुड़े लोगों के दुखों को कम करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। उन्होंने बताया कि कोरोना काल के दौरान रेडक्रॉस व सैंटजॉन के स्वयंसेवकों द्वारा यूथ रेडक्रॉस व जूनियर रेडक्रॉस के साथ मिलकर मानवता की सुरक्षा के लिए किया गया कार्य प्रशंसनीय है। स्वैच्छिक रक्तदान सेवा के क्षेत्र में हरियाणा राज्य रेडक्रॉस हमेशा अग्रणीय रही है और इसका मुख्य उद्देश्य है की हरियाणा राज्य में कोई भी व्यक्ति जरुरत पड़ने पर खून की कमी महसूस न करें। वर्ष 2021-22 में 2992 स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किए। गए और 1,59,000 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया। इसी प्रकार,वर्ष 2022-23 में 4,568 स्वैच्छिक रक्तदान शिविरों का आयोजन कर आज तक के सर्वाधिक 3,20,993 यूनिट रक्त एकत्रित किए गए।

उन्होंने बताया कि आपदा के समय जरुरतमन्द/पीड़ित व्यक्तियों की मदद करने के उद्देश्य से सैंटजान द्वारा शैक्षिणक व अन्य संस्थाओं में ब्रिगेड डिविजनों, आपदा प्रबन्धन टीमों का गठन किसी भी आपदाग्रस्त व्यक्ति के जीवन को बचाने में कारगर सिद्ध हो रहा है। वर्ष 2021-22 में चालक का लाईसैंस बनवाने वाले 4,59,513 अभ्यर्थियों, उद्योगों में कार्यरत 15,713 कर्मचारियों को तथा 9,021 सामान्य लोगों को प्राथमिक सहायता एवं गृहपरिचर्या का प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। इसके साथ ही हृदय की गति रुकने पर हृदय को पुन: चालू करने की विधि सीआरपी में 317 व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया गया। उन्होंने बताया कि हरियाणा रेडक्रॉस द्वारा प्रदेश में दिव्यांगों के कल्याण हेतु 11 जिलों में पुर्नवास केन्द्र एवं कृत्रिम अंगों व उपकरणों को बनाने के लिए कार्यशालाएं चलाई जा रही है। दिव्यांग लोगों को नि:शुल्क कृत्रिम अंगों एवं उपकरणों का वितरण अल्मिको कानपुर के सहयोग से तथा रेडक्रॉस द्वारा स्वयं के संसाधनों से किया जाता है। वर्ष 2022-23 में जिला रेडक्रॉस शाखाओं के माध्यम से 27,622 दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग वितरित किए गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button