Top
Action India

विद्यार्थी परिषद को हराने के लिए छात्र संगठनों ने बनाया लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट

विद्यार्थी परिषद को हराने के लिए छात्र संगठनों ने बनाया लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट
X

दादागीरी दिखाने वालों की नहीं चलेगी छात्र संघ चुनाव में : निशांत

बेगूसराय। एएनएन (Action News Network)

एक दिसम्बर को होने वाले ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में विद्यार्थी परिषद को हराने के लिए छात्र जदयू छोड़कर सभी छात्र संगठन एक मंच पर आ गए हैं। इसकी घोषणा मंगलवार को कार्यानंद भवन बेगूसराय में आयोजित संयुक्त प्रेस वार्ता में की गई। मौके पर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) के प्रदेश उपाध्यक्ष निशांत सिंह ने बताया कि बेगूसराय के पांच कॉलेजों में छात्र संघ का चुनाव होना है जिसमें करीब 50 हजार छात्र-छात्रा मताधिकार का प्रयोग कर अपने कॉलेज के लिए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, संयुक्त सचिव, कोषाध्यक्ष तथा विश्वविद्यालय प्रतिनिधि का चयन करेंगे।

इसके लिए 21 नवम्बर से नामांकन शुरू होना है। एनएसयूआई, एआईएसएफ, छात्र जाप एवं छात्र राजद का महागठबंधन इस बार भी बना है। लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट के इस गठबंधन का मुख्य उद्देश्य अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को हराना है। अन्य छात्र संगठन भी इस गठबंधन में शामिल हो सकते हैं। निशांत ने बताया कि विद्यार्थी परिषद धर्म के नाम पर राजनीति कर छात्रों को बरगला कर वोट ले लेती है।

इसको देखते हुए हम सभी छात्र संगठन एकजुट होकर मजबूती के साथ छात्र- छात्राओं को जागरूक करते हुए गठबंधन के पक्ष में वोट दिलाएंगे। कॉलेज परिसर में सांप्रदायिक माहौल खराब करने वाले तथा दादागीरी दिखाने वालों की इस चुनाव में नहीं चलेगी। बेगूसराय राज्य का पहला जिला है, जहां पिछले छात्र संघ चुनाव में भी गठबंधन हुआ था और इस चुनाव में भी मजबूती के साथ गठबंधन किया गया है।

एआईएसएफ के प्रदेश उपाध्यक्ष अमीन हमजा ने बताया कि लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट का मुख्य उद्देश विद्यार्थी परिषद को हराना, सांप्रदायिक ताकत को पछाड़ना है। ये लोग नीचे से ऊपर तक सत्ता में रहने के बावजूद कॉलेज में व्यवस्था सुधार के बदले नौटंकी करते हैं। हम सभी कॉलेज में जीतेंगे, ईमानदार और जोरदार तरीके से गठबंधन धर्म निभा कर प्रचार प्रसार किया जा रहा है।

Next Story
Share it