Top
Action India

कडाउन के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई के साथ ही अन्य कलाकृत्तियां बनाकर समय व्यतीत कर रहे हैं छात्र

जम्मू । एएनएन (Action News Network)

कोरोना महामारी को लेकर निरंतर बनी लॉकडाउन की स्थिति को लेकर इस समय सभी लोग अपने घरों तक ही सीमित होकर रह गए हैं। वहीं स्कूली बच्चे भी इसी तरह से घरों के भीतर ही कैद हैं।इस स्थिति में विभिन्न सरकारी और नीजि स्कूलों ने लॉनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था शुरू कर दी है। इसके चलते बच्चे एक ओर जहां स्कूलों द्वारा शुरू की गई ऑनलाइन कक्षाओं को लेकर व्यस्त हैं तो दूसरी ओर छोटे बच्चे कई तरह के स्केच और यहां तक की पेंटिंग्स बनाकर अपना समय व्यतीत कर अपनी कला दिखा रहे हैं।

बच्चों के अभिभावकों नीरज कुमार और राज कुमार ने गुरूवार को बताया कि उनके बच्चे अभी छोटे हैं और वे अधिकतर समय पेंटिंग बनाकर या स्कैचिंग करके अपना समय व्यतीत कर रहे हैं। वहीं एक अन्य अभिभावक सुनील ने कहा कि उनके बच्चों को ऑनलाइन नोट्स भेजे जा रहे हैं और बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई ही कर रहे हैं। उनके बच्चे नागबनी स्कूल में पढ़ते हैं। बच्चे पेंटिंग बनाकर कई तरह के संदेश भी लिख रहे हैं।

कुछ बच्चे ‘सेव ट्री सेव अर्थ’ पर पेंटिंग बनाकर यह संदेश दे रहे हैं कि अधिक से अधिक पेड़ लोगों को लगाकर उनका संरक्षण करना चाहिए ताकि वातावरण शुद्ध रहे और प्रकृति भी पूरी तरह से बची रहेगी और मानव को प्रदूषण से राहत भी मिलेगी। वहीं कुछ बच्चे ‘पानी बचाओ’ को अपना लक्ष्य बनाकर पेंटिंग बना रहे हैं और लोगों को बता रहे हैं कि पानी की हर एक बूंद बहुत ही मूल्यवान है और व्यर्थ में पानी को नहीं बहाना चाहिए।

जहां तक संभव हो सके अपने प्राकृतिक स्रोतों का संरक्षण करना चाहिए और कहीं भी लीक हो रहे पानी को पूरी तरह से रोकना चाहिए। ऐसा इसलिए है ताकि स्वच्छ पानी की बूंद हर एक के घर में पहुंचे और पानी की कमी पृथ्वी पर किसी को भी महसूस ना हो।इस तरह की पेंटिंग करके बच्चे व्हाटसेप पर भी लोड़ कर रहे हैं और इसका भरपूर आनंद भी उठा रहे हैं। इसका उनको एक अलग ही अनुभव महसूस हो रहा है।

Next Story
Share it