Top
Action India

शिमला के नेरवा में तब्लीगी जमात के 4 लोग गिरफ्तार, दिल्ली से लौटने के बाद छिपकर रह रहे थे

शिमला। एएनएन (Action News Network)

हिमाचल में तब्लीगी जमातियों के कोरोना संक्रमित होने से मची खलबली के बीच शिमला के नेरवा में पुलिस ने चार जमातियों को गिरफ्तार किया है। ये चारों दिल्ली के निजामुद्दीन से लौटने के बाद नेरवा में छिपकर रह रहे थे। नेरवा पुलिस कई दिनों से इनकी तलाश में जुटी थी।रविवार देर रात चारों को गिरफ्तार कर लिया गया। ये सभी नेरवा के ही रहने वाले हैं। इनमें एक जमाती 18 मार्च तथा अन्य तीन 9 मार्च को दिल्ली से लौटे थे। इन्होंने अपने आने की जानकारी प्रशासन से सांझा नहीं की थी।

इनकी पहचान गुलाम हुसैन (55) निवासी ग्राम बेलत, इब्राहिम (54) व लियाकत अली (50) निवासी गांव बीड़ी और वजीर (50) निवासी गांव दाची के रूप में हुई है। पुलिस द्वारा चारों को आईजीएमसी शिमला लाया गया है, जहां इनके कोरोना वायरस के टैस्ट लिए जाएंगे।चौपाल के डीएसपी वरुण पटियाल ने सोमवार को बताया कि चारों के विरुद्ध डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट तथा आईपीसी की धाराओं 188, 269 व 270 के तहत केस दर्ज किया गया है।

कोरोना संदिग्ध की श्रेणी में रखते हुए इनके कोरोना के सैम्पल लिए जाएंगे।उल्लेखनीय है कि गत दिनों नेरवा में 11 जमातियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जो कि कर्फ्यू का उल्लंघन कर सिरमौर जिला से नेरवा में दाखिल हुए थे। अब तक हिमाचल पुलिस 85 जमातियों के विरुद्ध सात जिलों में एफआईआर दर्ज कर चुकी है, जिन्होंने दिल्ली स्थित निजामुद्दीन व अन्य राज्यों से लौटने के बावजूद प्रशासन को अपने आने की सूचना नहीं दी थी। पुलिस ने बाहर से लौटने वाले कुल 281 जमातियों का पता लगाया है।

हिमाचल सरकार ने दिल्ली व अन्य बाहरी राज्यों से लौटने वाले जमातियों को अपने आने की सूचना प्रशासन से सांझा करने की सख्त हिदायत दी है। राज्य के डीजीपी कह चुके हैं कि इसकी अवहेलना करने वाले जमातियों के विरुद्ध डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के अलावा आईपीसी की धाराओं 302 व 307 में एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। राज्य में कोरोना संक्रमण के 14 मामले सामने आए हैं। इनमें सात तब्लीगी जमाती शामिल हैं।

Next Story
Share it