Action India
अन्य राज्य

अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी, पंजाब में आपात लैंडिंग

अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी, पंजाब में आपात लैंडिंग
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

पठानकोट एयरबेस से उड़ान भरने के बाद भारतीय वायु सेना के अपाचे गार्डियन अटैक हेलीकॉप्टर में शुक्रवार को अचानक तकनीकी खराबी आ गई। इस कारण होशियारपुर के गांव बुढावड़ में आपात लैंडिंग करवाई गई। हेलीकॉप्टर के खेतों में उतरते ही आस-पास गेहूूं की कटाई कर रहे किसानों में भगदड़ मच गई। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर हेलीकॉप्टर के पायलट व को-पायलट को सुरक्षा प्रदान की।

भारतीय वायु सेना के अपाचे गार्डियन अटैक हेलीकॉप्टर ने पठानकोट एयरबेस से उड़ान भरी। उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही हेलीकॉप्टर में खराबी आ गई और कंट्रोल पैनल की तरफ से अलर्ट मैसेज दिया गया। इसके बाद पायलट ने हेलीकॉप्टर को होशियारपुर जिला के दसूहा उपमंडल के गांव बढवड़ के खेतों में उतार दिया।हेलीकॉप्टर उतरते ही खेतों में गेहूूं की कटाई कर रहे किसानों में भगदड़ मच गई और आसपास से भारी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गए। इसी दौरान सूचना मिलते ही दसूहा पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची।

हेलीकॉप्टर के पायलट व को-पायलट ने बताया कि तकनीकी खराबी के चलते आपात लैंडिंग करवाई गई है। इसके बाद पुलिस की मदद से उन्होंने पठानकोट एयरबेस को इसकी सूचना दी। पठानकोट एयरबेस के विशेषज्ञों की टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच हेलीकॉप्टर की जांच शुरू कर दी है। मरम्मत के बाद उसे वापस भेजा जाएगा।

अमेरिकी लड़ाकू एएच-64ई अपाचे गार्डियन अटैक हेलीकॉप्टर की पहली खेप भारत को जुलाई, 2019 में मिली थी। भारत सरकार ने अमेरिका को 22 हेलिकॉप्टरों का आर्डर दिया था। चार और हेलीकॉप्टरों की अगली खेप आने के बाद आठों हेलीकॉप्टर हिंडन एयरबेस से पठानकोट वायुसेना स्टेशन भेजे गए और सितम्बर में इन्हें औपचारिक रूप से वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया था।

दिल्ली में वायुसेना के प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय वायुसेना के अपाचे हेलीकॉप्टर में पठानकोट एयरबेस से हवाई उड़ान भरने के लगभग 1 घंटे बाद तकनीकी खराबी आई जिस वजह से पंजाब के पश्चिम में सुरक्षित लैंडिंग करवानी पड़ी। विमान के कप्तान ने हेलीकॉप्टर को सुरक्षित रूप से ठीक करने के लिए सही और त्वरित कार्रवाई की। हेलीकॉप्टर में सवार सभी चालक दल सुरक्षित हैं और किसी भी संपत्ति को कोई नुकसान नहीं हुआ है। आवश्यक सुधार के बाद विमान को पठानकोट वायुसेना स्टेशन ले जाया जाएगा।

Next Story
Share it