Top
Action India

नजीबाबाद तहसीलदार ने पेश की मानवता की मिसाल

नजीबाबाद तहसीलदार ने पेश की मानवता की मिसाल
X

नजीबाबाद । एएनएन (Action News Network)

कोरोना के इस संकटकाल में क्या आम क्या खास और क्या सरकारी कर्मी-पुलिस। सभी न केवल अपना फर्ज अदा कर रहे हैं वरन काेरोना योद्धा के रूप में इस महामारी से जंग करने में जुटे हैं। ऐसे ही नजीबाबाद के तहसीलदार जिन्होंने व्यक्तिगत रूप से प्रवासियों को सुरक्षित उनके घर पहुंचाने की व्यवस्था करायी। एंटी करप्शन ब्यूरो एंड वेलफेयर फाउंडेशन ने उनके लिये रात में ही रहने व भोजन की सुविधा दी।तहसीलदार राधेश्याम शर्मा ने व्यक्तिगत रूप से पंजाब के नकोदर जिले से भूखे पैदल चलकर नजीबाबाद पहुंचे सभी अठ्ठारह प्रवासी मजदूरों के किराए की जिम्मेदारी लेकर उन्हें सुरक्षित उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था करायी।

वेलफेयर फाउंडेशन ने प्रवासी मजदूरों को सभी जरूरत की चीजें मुहैया कराकर अगले दिन ही शुक्रवार की देर रात्रि को उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने की व्यवस्था करायी, जहां से वे प्रवासी शनिवार को तड़के अमेठी के लिये रवाना हो गए ।गुरुवार की देर रात 10 बजे पंजाब राज्य के नकोदर जिले के 18 प्रवासी मजदूर जिनमें वयस्क महिला व बच्चे भी शामिल थे वे मालन नदी के पास बारिश में भीग रहे थे जिसकी जानकारी एंटी करप्शन ब्यूरो एंड वेलफेयर फाउंडेशन के फाउंडर और नेशनल चेयरमैन इंजीनियर विकास कुमार आर्य को मिली तो वह तत्काल बारिश में ही मौके पर पहुंच उनकी परेशानी समझी।

इसके बाद उन्होंने सभी प्रवासी मजदूरों के लिए रहने, खाने व जरूरत की सभी चीजों की व्यवस्था करायी। इसके बाद तत्काल रात को ही इसकी जानकारी प्रशासन को दे दी ताकि जल्द उन सभी को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा सके। जब तक सभी प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक जाने की व्यवस्था नहीं हुयी तब तक सभी को फाउंडेशन ने अपने संरक्षण में रखकर उनकी देखभाल की। शुक्रवार की शाम तक जब किन्हीं कारणवश उनको भेजने की कोई व्यवस्था नहीं बन पायी तो तहसीलदार राधेश्याम शर्मा अपने व्यक्तिगत तौर वयस्क महिलाओं व छोटे छोटे बच्चों समेत सभी के किराए की जिम्मेदारी लेकर निजी खर्च पर उनको बिजनौर रवाना किया जहां से उनको शनिवार को तड़के उनके गंतव्य जिला सुल्तानपुर और अमेठी के लिए रवाना कर दिया गया। एंटी करप्शन ब्यूरो एंड वेलफेयर फाउंडेशन के समस्त सदस्यों व क्षेत्रवासियों ने नजीबाबाद तहसीलदार के इस जज्बे की जमकर प्रशंसा की। फाउंडेशन की ओर से डॉ. शुऐब, नदीम, अयाज, वाजिद, आतिफ आदि का सहयोग रहा।

Next Story
Share it