Action India
अन्य राज्य

वेदी सिन्हा ने लाइव कार्यक्रम में संत कबीर के व्यक्तित्व से बांधा समां

वेदी सिन्हा ने लाइव कार्यक्रम में संत कबीर के व्यक्तित्व से बांधा समां
X

बेगूसराय । एएनएन (Action News Network)

बेगूसराय में रंगमंच की प्रसिद्ध संस्था बाल रंगमंच आर्ट एण्ड कल्चरल सोसाइटी बरौनी ने कला और कलात्मक गतिविधियां को जारी रखने के लिए मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय से उत्तीर्ण ऋषिकेश कुमार की देखरेख में लाइव कार्यक्रम की शुरुआत किया है। कार्यक्रम में प्रस्तुति के लिए कबीर के शब्दों से प्रेरित 'आह्वान' के संस्थापक वेदी सिन्हा को आमंत्रित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। जिसमें अलग-अलग लोक गीतों के माध्यम से दर्शकों को सुफियाना स्वर, संत कबीर के व्यक्तित्व को उच्च स्तरीय संवाद से मंत्रमुग्ध कर दिया। मुख्य रूप से 'एकतारे, देख विधाता, चल मुसाफिर होले, भला हुआ मोरी माला टूटी मैं तो राम भजन से छूटी रे मोरे सिर से टली बला' आदि लोकप्रिय गीत शामिल किया गया था।

वेदी सिन्हा ने कहा कि आह्वान प्रोजेक्ट से बस इतनी कोशिश है की इंसान के अंदर बैठा वो प्यार जो सालों की जद्दोजेहद में खोने लगता है उसे एक बार फिर खोज सकें। कार्यक्रम में भारत के अलग-अलग राज्य से सोशल मीडिया के माध्यम से प्रस्तुति को देखा और खूब सराहना की। दिल्ली विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र की पढ़ाई करने वाली वेदी ने कुछ समय बंबई के एक प्रोडक्शन हाउस में नौकरी किया। इसके बाद नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन अहमदाबाद में फिल्म के रूप में कहानी सुनाना सीखा। कई उतार चढ़ाव के बाद एक समय ऐसा आया जब मन और शरीर टूट गए और उठना मुश्किल हो गया। तब मेरा परिचय सही मायने में कबीर से हुआ और प्यार का निर्गुण अर्थ समझ आने लगा।

Next Story
Share it