Top
Action India

माघ मेले की तैयारियों की राह में बाधा बन रहा दलदल

माघ मेले की तैयारियों की राह में बाधा बन रहा दलदल
X

प्रयागराज। एएनएन (Action News Network)

माघ मेला की तैयारियों की उलटी गिनती शुरू हो गई है। प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने तैयारियों में जुटे सभी विभागों को 20 दिसम्बर तक मेले का कार्य पूरा करने के आदेश दिए हैं। देर से शुरू हुए मेले में बड़ी बाधा दलदल बन रहा है। बीते दिनों आई बाढ़ का असर अभी भी संगम क्षेत्र में दिखाई दे रहा है।

बाढ़ के कारण इस वर्ष वैसे भी मेले का कार्य काफी देरी से शुरू हुआ है। मेला प्राधिकरण ने वर्ष 2018 की तरह माघ मेला बसाने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्राधिकरण को शासन की ओर से 57 करोड़ रुपये की धनराशि मिल चुकी है। कई विभागों ने कार्य शुरू करा दिया है। मेला प्रशासन की ओर से समतलीकरण का कार्य सेक्टर एक और दो में करा दिया गया है। अन्य सेक्टरों में दलदल होने के कारण समतलीकरण का कार्य नहीं हो पा रहा है। अलबत्ता लोक निर्माण विभाग की ओर से सड़क और पंटून पुल का निर्माण शुरू करा दिया गया है। गंगा नदी पर इस साल पांच पंटून पुल बनाए जाएंगे। इसके लिए विभाग को लगभग 12 करोड़ रुपये की धनराशि मंजूर हुई है। इसी तरह विद्युत विभाग, जल निगम, सिंचाई विभाग की ओर से भी काम शुरू करा दिया गया है।

सड़क, बिजली और जल निगम का काम होने पर ही अन्य विभाग अपना काम शुरू करा सकेंगे। फिलहाल जिस गति से मेले की तैयारियों का कार्य चल रहा है, उससे 20 दिसम्बर तक तैयारी पूरी हो पाना बेहद मुश्किल है। वैसे मेलाधिकारी रजनीश कुमार मिश्र का कहना है कि सभी विभागों के अफसरों को कड़े निर्देश दिए गए हैं कि मैन पॉवर बढ़ाकर रात-दिन काम कराएं, जिससे समय पर काम पूरा किया जा सके।

पॉर्किंग स्थलों को चिह्नित कर यातायात प्लान होगा तैयार
माघ मेला 2020 के मुख्य स्नान पर्वों के दौरान श्रद्धालुओं को स्नान कराकर सकुशल घर वापसी कराने के लिए तैयारी करने को कहा गया है। प्राधिकरण ने पुलिस अफसरों से कहा है कि वाहन पॉर्किंग स्थलों को चिह्नित कर यातायात प्लान भी तैयार कराया जाए। शटल बसों की व्यवस्था के लिए भी तैयारी की जाएगी।

सुविधाएं देने की प्लानिंग करने का निर्देश
संगम क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने के लिए नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश शासन की ओर से दिए गए हैं। संगम क्षेत्र में शौचालय, पानी, विद्युत, मोबाइल टॉयलेट आदि सुविधाएं देने की प्लानिंग की जा रही है। सड़कों पर अतिक्रमण के खिलाफ सघन अभियान चलाने के निर्देश भी दिए गए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे व्यवस्थित रखने को कहा गया है।

इन तिथियों पर है स्नान पर्व
इस वर्ष माघ मेले में 10 जनवरी को पौष पूर्णिमा, 15 जनवरी को मकर संक्रान्ति, 24 जनवरी को मौनी अमावस्या, 30 जनवरी को बसन्त पंचमी, 09 फरवरी को माघी पूर्णिमा तथा 21 फरवरी को महाशिवरात्रि है।

Next Story
Share it