Action India
अन्य राज्य

सेवा ही संकल्प के मूलमंत्र पर लगातार आगे बढ़ती जा रही है युवाओं की टोली

सेवा ही संकल्प के मूलमंत्र पर लगातार आगे बढ़ती जा रही है युवाओं की टोली
X

बेगूसराय । एएनएन (Action News Network)

देशव्यापी लॉकडाउन से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर जरूरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के बाद अब बेगूसराय के युवाओं की टोली प्रवासी मजदूरों की मदद में लग गई है। हालत यह है कि ट्रक और बस से आने वाले जिन प्रवासियों को रास्ते में लोग चापाकल पर पानी भी नहीं लेने दे रहे हैं, उन्हें बेगूसराय के युवा सीलबंद पानी के साथ-साथ नाश्ता भी उपलब्ध करवा रहे हैं। यह नजारा देखने को मिल रहा है एनएच-28 पर रसीदपुर में अवस्थित बेगूसराय जिले के बॉर्डर पर। रसीदपुर में जिला प्रशासन द्वारा मजदूर से भरे ट्रक को रोकने की व्यवस्था की गई है। यहां सभी को ट्रक से उतारकर जांच के बाद बस से जिले की अगली सीमा तक भेजा जा रहा है। देश के विभिन्न हिस्सों से भूखे प्यासे अपने गांव की ओर बदहवास पैदल चलते मजदूरों की खबरें आने के बाद साईं की रसोई टीम ने सड़क चलते प्रवासी मजदूरों को भोजन एवं पानी बोतल उपलब्ध कराने का अभियान शुरू किया है। आज रसोई टीम के सदस्यों ने जब जीरोमाइल और बछवाड़ा टोल प्लाजा के पास गाड़ियों को रुकवाकर भोजन और पानी का बोतल मुहैया कराया तो वे भावुक हो उठे।

ट्रॉली पर सवार हरियाणा के गुड़गांव से कटिहार जा रहे मजदूरों के एक परिवार ने बताया कि उत्तरप्रदेश से आगे बढ़ने के बाद बिहार में अभी ही पहली बार खाना मिल पाया है। कुछ ऐसी ही बात दिल्ली से एक ट्रक में सवार हो दुमका जा रहे लोगों ने बताई। टीम का सामना साईकिल से पश्चिम बंगाल के वर्द्धमान से छपरा जाते तीन चिमनी भट्ठा मजदूरों से भी हुआ जो बदहवास हालत में बीते छह दिन से साईकिल चलाते हुए छपरा जाते दिखे। इन लोगों को जब भोजन-पानी उपलब्ध करवाया गया तो राहत मिली और सभी छांव में बैठकर भोजन करने लगे। वहीं, जीरोमाइल के समीप दिल्ली से कभी ट्रक तो कभी पांव-पैदल नौगछिया की ओर बढ़ते मजदूर भी मिले। इन लोगों से जब पूछा गया कि सरकार ट्रेन चलवा रही है तो पैदल क्यों जा रहे हैं तो उनमें से एक ने कहा साहब इतने पढ़े-लिखे होते कि खुद से टिकट ऑनलाइन कर लेते तो मजदूरी क्यों करनी पड़ती।

वहीं, रसीदपुर में सामाजिक कार्यकर्ता सह भाजपा नेता प्रभाकर कुमार राय के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की ओर से अप्रवासी मजदूरों के बीच पानी बोतल, सूखा नाश्ता, बिस्किट पैकेट का वितरण लगातार किया जा रहा है। प्रभाकर राय ने बताया कि चिलचिलाती धूप में पानी के लिए भी प्रदेश से लौट रहे मजदूर व्याकुल रहते हैं। यहांं जब उन्हें नाश्ता-पानी मिलता है तो सुकून महसूस करते हैं। इधर, प्रवासी मजदूरों की सहायता में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भी सामने आ गया है विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता जिला मुख्यालय के एनएच-31 समेत विभिन्न प्रमुख सड़कों पर पैदल जा रहे प्रवासियों को नाश्ता-पानी उपलब्ध कराने के साथ उन्हें अगले पड़ाव तक जाने मेंं भी लगातार लगातार सहयोग कर रहे हैं।

Next Story
Share it