Top
Action India

धर्मशाला के झियोल के एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने दी कोरोना को मात, मां, बेटा और बहू हुए स्वस्थ

र्मशाला । एएनएन (Action News Network)

कांगड़ा जिला मुख्यालय धर्मशाला के साथ लगते झियोल गांव के एक ही परिवार के तीन कोरोना संक्रमित ने कोरोना को मात देते हुए घर वापसी की है। स्वस्थ होने वालों में एक बुर्जुग महिला उनका बेटा और गर्भवती उनकी बहू शामिल है। यह पूरा परिवार बीते 17 मई को मुबंई से कांगड़ा लौटा था। इन सभी को पहले परौर स्थित संस्थागत संगरोध केंद्र में रखा गया, लेकिन रेड जोन से आने के चलते इनके सैंपल लिए गए तो यह तीनों पॉजिटिव पाए गए थे। पॉजिटिव आने पर इन्हें बैजनाथ के कोविड केयर सेंटर में आइसोलेशन पर रखा गया था। यहां पर रहने के बाद इनके सैंपल लेकर दोबारा जांच की गई तो इनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। स्वस्थ होने के चलते तीनों को अब घर भेज दिया गया है जहां इन्हें सात दिन तक घरेलू संगरोध पर रहना होगा।

इन तीनों के स्वस्थ हो जाने से कांगड़ा में कोरोना को हराने वालों की संख्या अब 48 हो गई है। जबकि एक की मौत हो चुकी है। जिला में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 98 पंहुच चुका है जबकि सक्रिय मामले 49 रह गए हैं। उपायुक्त कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि जिला में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की प्रतिशतता (रिकवरी रेट) 49 फीसदी पंहुच गई है। जिला में अभी जितने भी सक्रिय मामले हैं वह सभी रेड जोन से आए लोगों के ही हैं। जिला में कम्यूनिटी स्प्रैड जैसे कोई भी हालात नही हैं। उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए रेड जोन क्षेत्रों से आ रहे सभी लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं तथा उनकी पूरी सक्रीनिंग भी की जा रही है। ऐसे क्षेत्रों से आ रहे लोगों को संस्थागत संगरोध केंद्रों में रखा जा रहा है तथा सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने वालों को कोविड केयर सेंटर में भेजा जा रहा है। जबकि जिन लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आती है उन्हें 14 दिन के घरेलू संगरोध पर रखा जा रहा है।

Next Story
Share it