Action India
झारखंड

मधुबल में डोली मजदूरों की हड़ताल, जैन तीर्थ क्षेत्र में पसरा सन्नाटा

गिरिडीह। एएनएन (Action News Network)

जैन धर्मशालाओं से 16 कर्मचारियों की छंटनी के विरोध में विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थस्थल मधुबन में गुरुवार को मजदूर और डोली मजदूर हड़ताल पर चले गए हैं। इससे पूरे मधुबन जैन तीर्थ क्षेत्र में सन्नाटा पसरा हुआ है। जैन मंदिरों के ताले तक नहीं खुले। भोजनालय बंद हैं। बाजार बंद हैं। सड़क पर आवागमन ठप है। तीर्थ यात्रियों को अपने कंधों पर लेकर पारसनाथ पहाड़ की चोटियों पर स्थित मंदिरों का दर्शन कराने वाले करीब दस हजार डोली मजदूर भी हड़ताल पर हैं।

इस कारण कोई भी तीर्थयात्री गुरुवार को पहाड़ की परिक्रमा नहीं कर सका। इस आंदोलन के कारण देश के विभिन्न राज्यों से आए करीब एक हजार से अधिक तीर्थयात्रियों के समक्ष भारी मुसीबत आन पड़ी है। उनके समक्ष भोजन एवं चाय-नाश्ता का भी संकट है। मजदूरों ने पहले ही हड़ताल का आह्वान किया था। इसे देखते हुए बड़ी संख्या में तीर्थयात्री बुधवार की रात ही मधुबन से निकल गए थे। होली पर यहां बड़ा आयोजन होता है।

इस आयोजन पर भी संकट है। बंद का आह्वान झारखंड क्रांतिकारी मजदूर यूनियन ने किया है। जैन संस्था मोदी भवन ने अपने 11 एवं धर्ममंगल जैन विद्यापीठ ने 5 कर्मचारियों की छंटनी की है। इसके खिलाफ पिछले तीन महीने से आंदोलन चल रहा था। विगत 20 फरवरी को सांकेतिक हड़ताल भी किया गया था। इसके बाद प्रशासन ने हस्तक्षेप किया था। भोमिया भवन प्रबंधन एवं मजदूरों के बीच बुधवार को समझौता भी हुआ, लेकिन मोदी भवन व धर्ममंगल जैन विद्यापीठ प्रबंधन ने मजदूरों को वापस लेने से इंकार कर दिया।

Next Story
Share it