Action India
झारखंड

आज सावन की तीसरी सोमवारी हैं, सुबह 4ः30 बजे खोला गया मंदिर का पट

आज सावन की तीसरी सोमवारी हैं, सुबह 4ः30 बजे खोला गया मंदिर का पट
X

देवघर । Action India News

देवघर के बाबा मंदिर में तीसरी सोमवारी को मंदिर का पट 4ः30 पर खोला गया। जिसके बाद सरकारी पूजा संपन्न हुई और उसके बाद मंदिर के पुरोहितों के लिए 7ः00 बजे तक के लिए पूजा की अनुमति दी गई।

सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पुरोहितों ने बाबा मंदिर में पूजा अर्चना की खास बात यह है कि इस बार पुरोहित अपने भक्तों को ऑनलाइन संकल्प करा कर उन्हें पूजा करा रहे हैं। भक्त अपने पुरोहित को एक राशि ऑनलाइन भेज देते हैं। जिसके बाद पुरोहित अपने भक्तों के नाम से यहां पूजा करा देते हैं।

आज सोमी अमावस्या है और तीसरी सोमवारी का संजोग भी है। कहा जाता है कि आज के दिन अमर सुहाग का वरदान मिलता है। लिहाजा महिलाओं के लिए यह सोमवारी काफी फलदाई होता है।

आज तीसरी सोमवारी है। कथाओ के मुताबिक सावन के महीने में हर सोमवारी को समुद्र मंथन में कुछ बहुमूल्य रत्न और चीजें मिली थी। कहा जाता है तीसरी सोमवारी को कोस्तुव मणि निकली थी । लक्ष्मी और कौस्तुव मणि भगवान बिष्णु के के पास रहता है। कहा जाता है की ये भक्तों को ऐश्वर्या धन और शुख शांति प्रदान करता है।

अतः आज का दिन शिव की पूजा अर्चना करने से भक्तो के जीवन से दुःख दूर हो जाते हैं। आज शिव को इसलिए गंगा जल चढ़ाने से मनुष्य का जीवन दुःख विहीन हो जाता है । दूसरी ओर देवघर के डीसी कमलेश्वर प्रसाद सिंह पहली बार तीसरी सोमवारी को बाबा मंदिर अहले सुबह ही पहुंचे और विधि व्यवस्था का जायजा लिया ।

इसके अलावा पूरा प्रशासन सामाजिक दूरी का पालन करवाने और पुरोहितों को दर्शन कराने के लिए अहले सुबह से डटा रहा। बाहरी यात्रियों का प्रवेश निषेध है जिसके वजह से बाहरी परिसर और सीमाओं में भी भारी मात्रा में पुलिस बलों और दंडा अधिकारीयों की नियुक्ति कर दी गई थी। देवघर बाबा मंदिर में गर्भ गृह में महिलाओं और बच्चों के एंट्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है ।

Next Story
Share it