Top
Action India

कोरोना से प्रदेश का पर्यटन उद्योग भी वेंटिलेटर पर - सांसद

कोरोना से प्रदेश का पर्यटन उद्योग भी वेंटिलेटर पर - सांसद
X

उदयपुर । एएनएन (Action News Network)

राजसमन्द की सांसद दीया कुमारी ने कहा कि कोरोना संकट के कारण प्रदेश का पर्यटन उद्योग भी वेंटिलेटर पर पहुंच गया है जिसको ऑक्सीजन रूपी राहत पैकेज की सख्त आवश्यकता है।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजकर ठप हो चुके राज्य के पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान के लिए समस्त कर में छूट के साथ विशेष पैकेज स्वीकृत करने की मांग करते हुए सांसद दीया कुमारी ने कहा कि राजस्थान अपनी संस्कृति, संस्कार, स्थापत्य व ऐतिहासिक धरोहरों के कारण विश्वप्रसिद्ध है।

राजस्थान देशी व विदेशी पर्यटकों में मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहता है और इसी कारण इस पर्यटन व्यवसाय से लाखों की संख्या में लोग प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से जुड़े है और यही उनकी आजीविका का माध्यम है।‘पधारो म्हारे देश’ हमारे आतिथ्य सत्कार का परिचायक है। देश कोविड-19 की समस्या से जूझ रहा है और चूंकि यह महामारी बाहर से आने वाले व्यक्तियों के कारण फैली है इस कारण आने वाले समय में पर्यटन व्यवसाय पूर्ण रूप से बाधित रहेगा। बड़े स्तर पर इस व्यवसाय से जुड़े होटल, रेस्टोरेंट मालिक, गाइड, हाथी मालिक, ट्यूर एंड ट्रेवल्स, ज्वैलरी और कपड़ा, हस्तशिल्प व्यापारी, कलाकार, शिल्पकार, लोकगायक इत्यादि सभी की आजीविका पर संकट आ गया है।

सांसद ने ऐसी विषम स्थिति में सरकार से अनुरोध किया है कि राज्य के निवासियों के रोजगार के इस प्रमुख केन्द्र पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान व इस क्षेत्र से जुड़े लोगों की आजीविका को ध्यान में रखते हुए एक विशेष राहत पैकेज स्वीकृत करें।

Next Story
Share it