Top
Action India

आगरा : ताजमहल का दीदार करने पहुंचे पर्यटकों नहीं मिला प्रवेश, लौटे मायूस

आगरा : ताजमहल का दीदार करने पहुंचे पर्यटकों नहीं मिला प्रवेश, लौटे मायूस
X

  • कोरोना वायरस के खौफ के चलते 31 मार्च तक ताज महल पर्यटकों के लिए किया गया बंद

आगरा। एएनएन (Action News Network)

आगरा में ताजमहल देखने आए पर्यटकों को मंगलवार सुबह मायूस होकर लौटना पड़ा पर्यटक के दिल तोड़ने का कारण कोरोना बन गया है। क्योंकि केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्रालय द्वारा संरक्षित स्मारकों को 31 मार्च तक बंद करने के आदेश के बाद यह सब हो गया है।

बता दें कि, मंगलवार की सुबह सैकड़ों पर्यटक ताज के दीदार के लिए ताज महल पहुंचे। वह काफी उत्साहित थे, लेकिन वहां का नजारा देख उन्हें सिर्फ मायूसी मिली। हाल यह था टिकट काउंटरों पर सैलानी तो थे लेकिन टिकट देने वाले नहीं थे। उसके बाद सैलानी आगे चले। तो ताज पर प्रवेश बंद था। यह देख सैलानी जो पश्चिमी गेट पर थे वे पूर्वी गेट की ओर रुख करने लगे और जो पूर्वी गेट पर थे वह पश्चिमी गेट की ओर रुख करने लगे। उन्हें लगा था कि शायद इस गेट पर प्रवेश बंद है। उस गेट से प्रवेश मिल जाएगा, लेकिन यह उम्मीद है उनकी टूट गई।

फिर मायूसी मिली और बगैर ताज के दीदार के लौटना पड़ा। हजारों पर्यटकों का दिल टूट गया। अमेरिका से आए एक पर्यटक डेविड ने का कहना था। क्यों है ताजमहल के दीदार के लिए बहुत ही उत्सुक था। अपनी महिला साथी के साथ यहां आया हूँ। लेकिन सुबह जब ताजमहल आया तो यहां का नजारा देख कर मायूसी हाथ लगी। ऐसा नहीं पता था कि मैं ताजमहल नहीं देख पाऊंगा। बड़ी मुश्किल से भारत की यात्रा के लिए समय निकाला था। प्यार की इस ताजमहल की निशानी को देखना चाहता था। लेकिन लगता है कि अब तो कहीं बगैर ताजमहल के दीदार के ही वापस लौटना ना पड़े।

पर्यटन मंत्रालय ने संभावित कोरोनावायरस के बचाव के लिए सभी ऐतिहासिक स्मारकों को 31 मार्च तक बंद करने के निर्देश दिए हैं। जिससे कि इस संक्रमण से देश को बचाया जा सके। क्योंकि चीन, इटली आदि जैसे कई देशों में इस महामारी से लोग ग्रसित हैं। और उनसे भारत में इस संक्रमण के फैलने की ज्यादा संभावना है। इससे बचाव के लिए भीड़-भाड़ वाले स्मारकों को बंद कर दिया गया है।

Next Story
Share it