Action India

वस्त्र-परिधान पार्क मार्ग पर चालक रहित मेट्रो चलाने की तैयारी

वस्त्र-परिधान पार्क मार्ग पर चालक रहित मेट्रो चलाने की तैयारी
X

अहमदाबाद । एक्शन इंडिया न्यूज़

अहमदाबाद में वर्तमान ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर में वस्त्राल गांव से अपैरल पार्क तक चलने वाली मेट्रो ट्रेन मैनुअल यानी ड्राइवर द्वारा चलाई जाती है। मेट्रो के ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर में वस्त्राल गांव से थलतेज गांव तक के रूट के लिए तैयार होने वाले अपैरल पार्क में मेन कंट्रोल रूम के साथ, सिग्नल सिस्टम पूरे ट्रैक पर काम कर रहा है, अब मेट्रो के चालक रहित ऑपरेशन की तैयारी चल रही है।

गुजरात मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा जनवरी में पश्चिमी भारत में रेलवे सुरक्षा आयुक्त के निरीक्षण के बाद चालक रहित मेट्रो शुरू करने की संभावना है। हालांकि, एक चालक रहित ट्रेन में एक चालक को उसके साथ रखा जाएगा ताकि दुर्घटना के मामले में उसकी सहायता की जा सके, साथ ही ट्रेन की गति के साथ-साथ आवृत्ति भी बढ़ जाएगी।

गुजरात मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एक अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में 6.5 कि.मी. मार्ग पर चलने वाली मेट्रो ट्रेन की गति बढ़ाने के लिए सीआरएस की मंजूरी की आवश्यकता होती है। इसलिए, 29-30 दिसम्बर को लोगों के लिए मेट्रो ट्रेन का संचालन रोककर इस मार्ग के साथ-साथ सीआरएस द्वारा कंट्रोल रूम, सिग्नल सिस्टम आदि का भी निरीक्षण किया जाएगा।

वर्तमान में मेट्रो ट्रेनें 20 से 25 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हैं लेकिन अब यह ट्रेन 60 से 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी। अधिकारी ने आगे कहा कि वर्तमान में केवल एक ट्रेन चल रही है लेकिन जनवरी से 4 या उससे अधिक ट्रेनें मेट्रो के दोनों ट्रैक पर चलेंगी। नतीजतन, ट्रेन जो वर्तमान में 50 मिनट की दूरी पर चल रही है, 10 से 15 मिनट की दूरी पर चलने वाले लोगों को अधिक आवृत्ति मिलेगी।

दोनों स्टेशनों को सीआरएस की मंजूरी नहीं मिली, क्योंकि वस्त्राल गांव और रबारी कॉलोनी स्टेशनों का संचालन अधूरा था। अब जबकि इन दोनों स्टेशनों का संचालन पूरा हो गया है, जनवरी से वस्त्राल गांव और रबारी कोलोनी स्टेशन भी शुरू हो जाएंगे। शहर में मेट्रो ट्रेन के फेज -1 के परिचालन में विभिन्न बाधाओं के कारण 4 साल से अधिक की देरी हो गई है। गुजरात मेट्रो रेल कॉरपोरेशन का लक्ष्य अब ईस्टर्न वेस्ट कॉरिडोर को वस्त्राल गांव से थलतेज तक मेट्रो फेज -1 में और नॉर्थ साउथ कॉरिडोर को एपीएमसी से मोटेरा स्टेडियम तक सितम्बर 2022 तक पूरा करना है।

कोरोना काल से पहले औसतन 800 से अधिक यात्री प्रतिदिन यात्रा करते थे लेकिन कोरोना महामारी शुरू होने के बाद 22 मार्च से मेट्रो को बंद कर दिया गया। 1 सितम्बर से मेट्रो के फिर से शुरू होने के साथ औसतन 108 से अधिक यात्री रोजाना यात्रा कर रहे हैं।

Next Story
Share it