Top
Action India

ऊना में भाजपा का प्रदर्शन, सत्ती बोले भारत में शामिल हो बाबा नानक की जन्मस्थली

ऊना। एएनएन (Action News Network)

पाकिस्तान के ननकाना साहिब में पवित्र गुरुद्वारे पर हुई पत्थरबाजी की घटना, अल्पसंख्यकों को पाकिस्तान से भगाने की चेतावनी के साथ ननकाना साहिब का नाम बदलने जैसी बातें करने के विरोध में रोष रैली निकाली गई। रैली का नेतृत्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने किया। सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि पाकिस्तान की असलियत ऐसी घटनाओं से सामने आती है कि किस प्रकार से अल्पसंख्यकों के विरुद्ध एक षड्यंत्र चलाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि यह घटना निंदनीय है और इस घटना के दोषी को पकडऩे में तीन दिन पाकिस्तान की सरकार ने लगाए। यह अपने आप में दर्शाता है कि यदि भारत सरकार का दबाव ना होता तो पाकिस्तान सरकार इस पर कोई कार्यवाही नही करती।

उन्होंने कहा कि हमारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग है कि ननकाना साहिब को ही भारत में मिला लें। जिसके बाद भारत के श्रद्धालुओं को न तो कोई वीजा की जरूरत होगी और नही कोई कॉरिडोर की और फिर न ही ऐसी घटनाएं घटित होंगी।

सतपाल सत्ती ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय हितों की रक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार पूरी सक्रियता के साथ काम कर रही है, सरकार ने इस पत्थरबाजी की घटना को सख्ती के साथ उठाया है और पूरे देश भर में ही नहीं बल्कि विश्व में इस पत्थरबाजी की घटना की निंदा हो रही है। उन्होंने कहा कि पवित्र गुरुद्वारे पर इस प्रकार का हमला सहन नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि देश के कुछ शैक्षणिक संस्थानों में भी माहौल को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। टुकड़े-टुकड़े गैंग अलग एजेंडे पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत में रहकर आजादी के नारे लगाने वाले कभी भी राष्ट्र प्रेमी नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि यह लोग भारत की एकता और अखंडता को कमजोर करने वाले हैं और ऐसे कार्यों में कांग्रेसी और विपक्षी दल भी कुछ संस्थाओं के विशेष छात्रों को प्रोत्साहन दे रहे हैं। यह राष्ट्र के लिए अच्छी बात नहीं है।

Next Story
Share it