Top
Action India

सवा चार लाख से ज्यादा अभ्यर्थी देंगे यूपी संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा

सवा चार लाख से ज्यादा अभ्यर्थी देंगे यूपी संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा
X

  • नौ अगस्त को होगी प्रवेश परीक्षा, आटो-टैंपो का होगा संचालन

  • दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने वालों को पकड़ने के लिए विवि करेगा विशेष टेक्निक का इस्तेमाल

लखनऊ । Action India News

नौ अगस्त को होने वाले यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा की तैयारी पूरी हो गयी है। सामग्री जनपदों तक पहुंच गयी है। इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए विद्यार्थियों को उनके जिले में ही परीक्षा केन्द्र चयन करने की छूट दी गयी है। लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा कराये जा रहे इस परीक्षा में 4,31,904 अभ्यर्थी शामिल होंगे। इसके लिए पूरे प्रदेश में 14 नोडल केन्द्र, चार उप नोडल केन्द्र बनाये गये हैं। प्रदेश के 73 जनपदों में 1089 परीक्षा केन्द्र बने हैं।

कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय ने शुक्रवार को बताया कि परीक्षा की पूर्ण शुचिता बनाये रखने के उद्देश्य से इस बार नवीनतम तकनीकी का प्रयोग करते हुए कुछ अभिनव व्यवस्थाएं की गयी हैं। कई बार देखा गया है कि इस परीक्षा में वास्तविक परीक्षार्थी के स्थान पर अन्य परीक्षार्थी परीक्षा में बैठ जाते थे।

इस कारण इस बार सिर इन एज्योर का प्रयोग करते हुए अभिनव फेस डिस्टेंस सिस्टम को प्रयोग में लाया जा रहा है, जो कि आर्टीफिशियल इंटेलीजेंस का प्रयोग करते हुए अभ्यर्थी के चेहरों के कुल 27 स्थानों की सूचनाओं को डिजिटल डेटा में बदलकर, इनकी चारों दिशाओं में जांच करेगा। प्रत्येक अभ्यर्थी की 13 विशिष्ट व व्यक्तिगत विशेषताओं, यथा उसके बाल, चश्मा, आयु, लिंग इत्यादि को सम्मिलित कर परीक्षण करेगा। इस प्रक्रिया में कोई भी गलत व्यक्ति वास्तविक अभ्यर्थी के स्थान पर परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सकेगा।

कोरोना संक्रमण में बदली परिस्थियों का रखा गया है ध्यान

लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के संचालन की सभी व्यवस्थाएं सम्यक रूप से कर ली गई हैं। अभ्यर्थियों की सुविधा हेतु प्रदेश सरकार, उ॰प्र॰ शासन, जिला-प्रशासन के साथ तालमेल बनाते हुए, वर्तमान में कोविड-19 के कारण बदली हुई परिस्थितियों के दृष्टिगत, अभ्यर्थियों की सुरक्षा हेतु समस्त प्रोटोकॉल एवं निर्देशों का पूर्ण पालन कराया जा रहा है। प्रवेश परीक्षा दो पालियों में, प्रथम पाली पूर्वाह्न 9.00 बजे से 12.00 बजे तक व द्वितीय पाली अपराह्न 02.00 बजे से 05.00 बजे तक होगी। अभ्यर्थियों को परामर्श दिया गया है कि वे अपने परीक्षा केंद्र पर, परीक्षा आरंभ होने के कम से कम एक घंटा पूर्व रिपोर्ट करें।

पूरी परीक्षा की होगी वेब-कास्टिंग

कुलपति ने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की गई है जो आडियों रिकार्डिंग भी करेगा। राउटर भी लगाया गया है, जिसकी सहायता से पूरी परीक्षा की वेब-कास्टिंग की जायेगी। इस हेतु लखनऊ विश्वविद्यालय में 100 लैपटाप युक्त एक नियंत्रण कक्ष बनाया गया है जहां से एक-एक परीक्षार्थी पर कडी नजर रखी जायेगी। इस व्यवस्था के साथ ही परीक्षा के समय प्रत्येक परीक्षार्थी की पहचान के लिए उसकी अंगुलियों के निशान भी लिये जायेंगे और उसके द्वारा आवेदन करते समय दिये गये अंगुलियों के निशान से इनका मिलान किया जायेगा।

हर परीक्षा केन्द्र के फर्नीचर किये जाएंगे सेनेटाइज, अभ्यर्थियों काे मास्क लगाना जरूरी

उन्होंने बताया कि प्रत्येक परीक्षार्थी के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए प्रत्येक परीक्षा-केंद्र पर परीक्षा-कक्षों तथा फर्नीचर इत्यादि को परीक्षा के एक दिन पूर्व ही सेनेटाइज कराने की व परीक्षा के दिन, प्रत्येक परीक्षार्थी/कक्ष-निरीक्षक एवम परीक्षा से सम्बंधित हर व्यक्ति का इंफ्रारेड थर्मामीटर द्वारा शारीरिक तापमान मापने के साथ ही मास्क लगाकर ही परीक्षा केंद्र में प्रवेश देने की व्यवस्था की गई है।

सेनेटाइज प्रक्रिया के पर्यवेक्षण के लिए विशेष अधिकारी की व्यवस्था

उन्होंने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर सेनेटाइजेशन की प्रक्रिया के पर्यवेक्षण के लिए, इस कार्य हेतु समर्पित, एक विशेष अधिकारी की नियुक्ति की गई है, जो इस कार्य हेतु उत्तरदायी होंगे। अभ्यर्थियों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए प्रत्येक परीक्षा केंद्र में अभ्यर्थियों के लिए सेनेटाइजर, हैंडवाश आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए सभी सार्वजनिक निजी यातायात, यथा: टेंपो, टैक्सी, ओला, उबर, प्राइवेट व सरकारी बसें इत्यादि दिनाँक 08 व 09 अगस्त को सुचारू रूप से चलती रहेंगी। सभी अभ्यर्थियों को उनके प्रवेश-पत्र के साथ आवागमन की समुचित अनुमति सरकार द्वारा दे दी गई है।

Next Story
Share it