Top
Action India

अमेरिका ने भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय सैनिकों के प्रति जताई संवेदना

अमेरिका ने भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय सैनिकों के प्रति  जताई संवेदना
X

लॉस एंजेल्स । एएनएन (Action News Network)

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हिंसक मुठभेड़ में भारत के बीस जवानों की मृत्यु पर संवेदना जताई है। गुरुवार को माइक पोंपियो ने चीन के राजनयिक यांग जियची से भेंट के कुछ समय बाद ट्वीट किया, ‘‘हम चीन के साथ हुए हालिया विवाद में भारतीय सैनिकों के शहीद होने पर संवेदनाएं जताते हैं। हम सैनिकों को हमेशा याद रखेंगे, जिनके परिवार, करीबी और प्रियजन शोक में डूबे हैं।’’

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने हवाई में चीनी राजनयिक के साथ हुई पोंपियो की बातचीत में भारत-चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक मुठभेड़ में भारतीय जवानों की मृत्यु के बारे किसी तरह की चर्चा से इनकार किया है। एक दिन पूर्व व्हाइट हाउस की ओर से इतना ही कहा गया था कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भारत-चीन के बीच लद्दाख के पूर्व में गलवान घाटी में हिंसक मुठभेड़ के बारे में जानकारी है।

व्हाइट हाउस प्रेस सचिव कैयलेग मैकएनी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि राष्ट्रपति ट्रम्प को हिंसक मुठभेड़ के बारे में जानकारी है। इस हिंसक मुठभेड़ में भारत के बीस जवानों की मृत्यु हुई है। उन्होंने कहा कि इस घटना के संदर्भ में अभी किसी तरह के बीच बचाव के बारे में कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई है। विदेश विभाग इस पूरी स्थिति पर नज़रें गड़ाए हुए है।

उल्लेखनीय है कि 15 जून की रात चीनी सैनिकों ने लद्दाख की गलवान घाटी में कंटीले तार बंधे डंडों से भारतीय जवानों पर अचानक हमला किया था। इसमें एक कर्नल रैंक के अधिकारी समेत 20 जवान शहीद हो गए थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में चीन के 43 सैनिक मारे गए या घायल हुए।

Next Story
Share it