Top
Action India

बेरूत विस्फोट में 73 मरे और 3000 घायल

बेरूत विस्फोट में 73 मरे और 3000 घायल
X

  • अमेरिका ने बेरूत विस्फोट में मारे गए लोगों और घायलों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ

  • बंदरगाह के पास एक भंडारण में रखे 2750 टन नाइट्रेट अमोनियम में हुआ था विस्फोट

लॉस एंजेल्स । Action India News

अमेरिका ने बेरूत विस्फोट के सिलसिले में लेबनान सरकार की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। लेबनान की राजधानी बेरूत में बंदरगाह के पास एक भंडारण में विस्फोट से मंगलवार को 73 लोग मारे गए, जबकि 3000 लोग घायल हो गए हैं। इस विस्फोट में घायलों की संख्या लगातार बढ़ने के कारण राजधानी के अस्पतालों ने हाथ खड़े कर दिए हैं। अमेरिका के विदेश विभाग ने इस घटना पर संवेदना जताई है।

मंगलवार को व्हाइट हाउस में कोरोना संक्रमण के सिलसिले में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि उन्हें बेरूत में विस्फोट के बारे में लगातार अपडेट मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में उनकी अपने सैन्य अधिकारियों से बातचीत में यह पता लग रहा है कि यह विस्फोट न होकर जैसे किसी ने बेरूत पर हमला किया है।

मिडल ईस्ट में इज़राइल और लेबनान के उग्रवादी हेजबुल्ला की पारस्परिक हिंसात्मक झड़पों के बावजूद लेबनान के प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया है कि यह एक दुर्घटना है। बताया जा रहा है कि यह एक रासायनिक घटना थी।

लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने कहा है कि घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इस में दोषी व्यक्ति को बड़ी से बड़ी सज़ा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह बात उनकी समझ से परे है कि 2750 टन नाइट्रेट अमोनियम पिछले छह वर्षों से बिना किसी संरक्षण उपायों के एक भंडारण में जमा था।

इस विशाल भंडारण परिसर में अन्यान्य रसायन और यूरिया रखा जाता रहा है। इस विस्फोटिक आग्निकांड से दर्जनों लोग हताहत हुए हैं। इससे जानमाल की भारी क्षति हुई है। इस विस्फोट के बाद सैकड़ों दमकल और अधिकारी राहत कार्यों में जुट गए। आग लगने के बाद आसमान में धुएँ का बड़ा गुब्बारा छा गया था।

Next Story
Share it