Top
Action India

गांव का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ही स्वास्थ्य का प्रथम विद्यालय - सिद्धार्थ नाथ

गांव का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ही स्वास्थ्य का प्रथम विद्यालय - सिद्धार्थ नाथ
X

विधायक निधि से पीएचसी असरावल कला के छत पर लगेगा सोलर पैनल

जलभराव क्षेत्रों में पानी निकासी की व्यवस्था नगर निगम प्राथमिकता से करे - मंत्री

प्रयागराज। एक्शन इंडिया न्यूज़

गांव का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ही स्वास्थ्य का प्रथम विद्यालय है। जहां इलाज के जरिए ही जीवन की कठिनाइयों से आगे बढ़ने का मार्ग मिलता है। यह बातें उप्र सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भाजपा द्वारा सेवा ही संगठन कार्यक्रम के तहत गोद लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र असरावल कला अस्पताल का निरीक्षण के दौरान कही।

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीनेशन कक्ष को देखने के साथ मैटरनिटी रूम एवं डेयकेयर रूम तथा स्टाफ नर्सिंग क्वार्टर का निरीक्षण किया। डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ व नर्सों के साथ गांव वासियों से वार्ता की। उन्होंने कहा कि गांव का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्वास्थ्य का प्रथम विद्यालय केंद्र है। जहां प्राथमिक स्तर के सभी बीमारियों का इलाज होता है। स्वच्छता ही अस्पताल की असली पहचान है। उन्होंने प्रत्येक गांव में शत प्रतिशत टीकाकरण करवाने की अपील किया। कहा टीकाकरण ही तीसरी लहर को रोक सकता है।

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि पहले चरण के उपरांत कोरोना महामारी के दौर में लापरवाही के कारण दूसरे चरण में काफी कष्टों को झेलना पड़ा था। अभी सतर्क और सावधान रहें। सावधानी ही तीसरी लहर को रोक सकता है। सामान्य व गम्भीर बीमारियों की दवाएं एवं गर्भवती महिलाओं के डिलवरी सम्बंधित उपकरण अवश्य उपलब्ध रहें। केंद्र प्रभारी डॉ सालिक करीम को रूफ सोलर पैनल, डिलवरी उपकरण तथा डेय केयर रूम के बेड एवं टेबुल सहित जर्जर नर्सिंग क्वार्टर का जीर्णोद्धार कराने का इस्टीमेट बनाकर जल्द उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

श्री सिंह ने राजापुर आवास पर नगर निगम एवं डूडा के अधिकारियों के साथ विधानसभा शहर पश्चिमी में कराए जा रहे विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की। जिसमें जलभराव वाले इलाकों में तत्काल पानी निकासी बनाने का निर्देश नगर निगम को दिया और कहा कार्य में लापरवाही क्षम्य नहीं होंगे। नगर निगम द्वारा शहर पश्चिमी में कई वार्डो के 14 मार्ग स्वीकृत हो गए हैं, जो बरसात खत्म होते ही निर्माण कार्य पूर्ण कराएं। साथ ही डूडा द्वारा मुख्यमंत्री अल्प विकसित व मलिन बस्ती विकास योजनांतर्गत के आठ मार्गों के निविदा हो गए हैं, वे भी अक्टूबर-नवम्बर तक मार्ग गुणवत्ता के साथ समयबद्ध में निर्मित हो जाए।

इस मौके पर नगर आयुक्त रवि रंजन, डूडा अधिकारी, जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि सुरेश पासी, ज्ञान बाबू केसरवानी आदि उपस्थित रहे।


Next Story
Share it