Top
Action India

सीधे अभिभावकों के खाते में भेजी गई परिवर्तन लागत की धनराशि

सीधे अभिभावकों के खाते में भेजी गई परिवर्तन लागत की धनराशि
X

प्रदेश भर में 1.86 करोड़ बच्चों के अभिभावकों के खाते में भेजा गया 2673 करोड़

मीरजापुर। एक्शन इंडिया न्यूज़

सरकार कोविड-19 के दौर में बच्चों की शिक्षा के साथ ही सेहत पर भी ध्यान दे रही है। स्कूल बंद होने के चलते बच्चों को समुचित आहार मिलता रहे। इसके लिए स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को कल्याणकारी मध्यान्ह भोजन योजना के तहत लगभग दो लाख 93 हजार 783 बच्चों के अभिभावकों के खाते में परिवर्तन लागत की धनराशि भेजी गई, साथ ही इन बच्चों को अनाज भी मुहैया कराया गया है।

कोविड के चलते इन दिनों विद्यालय बंद हैं। खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रदेश सरकार वित्तीय वर्ष 2020-21 में मध्यान्ह योजना से आच्छादित 1.43 लाख विद्यालयों में अध्ययनरत 1.86 करोड़ बच्चों के अभिभावकों के खाते में परिवर्तन लागत की धनराशि 2673 करोड़ भेजी गई है। खाद्यान्न के रूप में 5.08 एमटी खाद्यान्न गेहूं व चावल कोटेदार के माध्यम से वितरित किया गया है।

जनपद मीरजापुर के प्राथमिक विद्यालयों में पोषण के लिए लगभग 263 दिवस का प्रति छात्र-छात्रा 26.3 किग्रा अनाज और 1302.50 परिवर्तन लागत भेजा गया है। वहीं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पोषण के लिए 249 दिनों का प्रति छात्र-छात्रा लगभग 37.35 किग्रा और परिवर्तन लागत 1849 रुपया भेजा गया है।

जिलाधिकारी ने कहा कि कोटे की दुकान से शारीरिक दूरी बनाते हुए प्रधानाध्यापक से जारी प्रदत्त अधिकार पत्र व बाउचर देकर अनाज प्राप्त कर सकते हैं। परिवर्तन लागत की धनराशि बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से खाते में भेजी गई है। बीएसए गौतम प्रसाद ने बताया कि जनपद में परिवर्तन लागत का लगभग 31 करोड़ रुपया अभिभावकों के खाते में भेजा गया।

Next Story
Share it