Top
Action India

हमीरपुर: नदी में स्नान कर हजारों श्रद्धालुओं ने मां महेश्वरी देवी में टेका माथा

हमीरपुर: नदी में स्नान कर हजारों श्रद्धालुओं ने मां महेश्वरी देवी में टेका माथा
X

मकरसंक्रांति पर मेले में उमड़ा जन सैलाब, शाम तक देवी भक्तों के लिये चला खिचड़ी भोज

हमीरपुर। एक्शन इंडिया न्यूज़

जलालपुर क्षेत्र के भेड़ी डांडा गांव में बेतवा नदी किनारे स्थित हजारों साल पुराने मां महेश्वरी देवी के मंदिर में गुरुवार को दिन भर मकरसंक्रांति पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। भीषण ठंड के बावजूद श्रद्धालुओं ने नदी में स्नान कर माता के दरबार में माथा टेका। यहां हर साल की तरह विशाल मेला भी लगा, जिसमें देवी भक्तों को खिचड़ी और हलुआ का प्रसाद दिया गया। अभी भी मंदिर में देवी भक्तों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।

हमीरपुर जिले से मात्र 50 किलोमीटर दूरी पर जलालपुर क्षेत्र के भेड़ी डांडा में माता महेश्वरी देवी के मंदिर का इतिहास हजारो वर्ष पुराना है। बुंदेलखंड के श्रद्धालु बड़ी संख्या में यहां पहुंचते है। यह एक एक अनूठी परम्परा भी की मकर सक्रान्ति में भव्य मेले ओर खिचड़ी का आयोजन किया जाता है। क्योंकि उनकी मन्नत पूरी होती है। हालांकि पूरे क्षेत्र में लोहड़ी के पर्व में माता रानी के दर्शन के लिये सैलाब उमड़ पड़ता है। देवी गीत और जयकारों से माहौल भक्तिमय बना हुआ है भेड़ी डांडा में महेश्वरी देवी के मंदिर में माता महेश्वरी देवी का मंदिर बेतवा नदी के किनारे बना हुआ है।

मां महेश्वरी देवी विकास समिति के कार्यालय प्रभारी अशोक दादा ने बताया कि मंदिर बहुत पुराना है, यहां पुलिस बल श्रद्धालुओं की सहुलियत के लिये बड़ी संख्या में लगा दिया गया है। यह मन्दिर बेतवा नदी किनारे स्थित है। लोग नदी में लोहडी के दिन स्नान करने के पश्चात मन्दिर में दर्शन करने आते है। और दिनभर माँ भक्तो को खिचड़ी का प्रसाद दिया जाता है। और यह त्योहार यहां सैकड़ो वर्षो से मनाया जाता है।

यह मंदिर देवी शक्ति पीठों में एक है। मंदिर देश के कोने-कोने से आने वाले लोगों की आस्था व श्रद्धा का केंद्र बना हुआ है। यहां मकर संक्रांति में भव्य मेला लगता है। मंदिर में भक्तांे का उमड़ता है जन सैलाब दूर-दूर से लोग मत्था टेकने व पूजन अर्चन को आते हैं। मां के दरबार में जो भी मुराद मांगी जाती है वह पूरी होती है।

हनुमान जी के मंदिर में लगा मकरसंक्रांति का मेला

हमीरपुर शहर के फक्कड़ कुटी आश्रम के निकट हनुमान जी के मंदिर में मकरसंक्रांति पर मेले का आयोजन हुआ। यहां स्वयंसेवी संस्थाओं ने मेले में आने वाले लोगों को खिचड़ी खिलायी। यह मेला पिछले पचास सालों से आयोजित होता हैै। महिलाओं ने मेले में रोजमर्रा की वस्तुयें भी खरीदी। इधर यमुना और संगम में मकरसंक्रांति पर्व पर दोपहर बाद श्रद्धालुओं ने स्नान कर प्रसिद्ध मंदिरों में पूजा अर्चना की। फिर कल्पवृक्ष के फेरे लगाकर यहां श्रद्धालुओं ने खिचड़ी दान की। कुरारा नगर पंचायत के सामने मकरसंक्रांति पर खिचड़ी भोज का आयोजन हिन्दु और मुस्लिम समाज के लोगों ने मिलकर किया। राहगीरों और कस्बे के गरीब असहायों को खिचड़ी बांटी गयी। कस्बे के कई स्थानों पर भी खिचड़ी बांटी गयी। वहीं एक्टिव वेलफेयर सोसायटी ने 50 गरीबों को कम्बल बांटे।

समाजसेवी ने वितरित किये कम्बल

जलालपुर क्षेत्र के माँ माहेश्वरी प्रांगण भेड़ी डांडा में विधायक मनीषा अनुरागी की अध्यक्षता में समाजसेवी धीरज सिंह चैहान ने गरीब, असहाय लोगों को कम्बल वितरित किये। ठिठुरन भरी शर्दी ने लोगांे को जीना दुश्वार कर दिया। कुछ दिनों से गलन भरी सर्दी पड़ने से लोग आग जलाकर बचाव कर रहे। सर्दी को देखते हुए समाजसेवी ने हजार की आबादी वाले ग्राम भेड़ी डांडा में 3 हजार गरीब असहाय लोगों को कम्बल वितरित कर आशीर्वाद प्राप्त किया। लोगों ने जमकर सराहना की। इस मौके पर रग्घू सिंग,रामबाबू भगत श्री कांत जैना आदि लोग मौजूद रहे।

Next Story
Share it