Action India

उप्र में बिना परमिट के सवारी ढोने वाली अंतरराज्यीय बसों के संचालन पर अब होगी सख्त कार्रवाई

उप्र में बिना परमिट के सवारी ढोने वाली अंतरराज्यीय बसों के संचालन पर अब होगी सख्त कार्रवाई
X
  • डग्गामार बसों का संचालन रोकने के लिए आरटीओ प्रवर्तन को सौंपी गई जिम्मेदारी
  • सवारी ढोते पकड़ी जाने वाली डग्गामार बसों पर कार्रवाई के साथ अब आरटीओ को भी मिलेगी नोटिस
  • बाराबंकी बस हादसे के बाद डग्गामार बसों के संचालन पर लगाम लगाने की तैयारी

लखनऊ। एक्शन इंडिया न्यूज़

परिवहन विभाग राजधानी लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में बिना परमिट के सवारी ढोने वाली अंतरराज्यीय डग्गामार बसों के संचालन पर अब सख्त कार्रवाई करेगा। इसके लिए लखनऊ परिक्षेत्र के उप-परिवहन आयुक्त निर्मल प्रसाद ने आरटीओ और एआरटीओ को निर्देश दिए हैं।

लखनऊ परिक्षेत्र के उप परिवहन आयुक्त निर्मल प्रसाद ने बाराबंकी में हुए भीषण बस हादसे के बाद बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब आदि स्थानों से लखनऊ आने और यहां से जाने वाली अंतरराज्यीय बसों के संचालन पर लगाम लगाने का निर्देश दिया है। इन बसों के अवैध संचालन को रोकने के लिए संभागीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) प्रवर्तन को जिम्मेदारी सौंपी गई है। अब बिना परमिट के कोई बस सवारी ढोते हुए पकड़ी गई तो आरटीओ प्रवर्तन को भी नोटिस मिलेगा।

इसी तरह से अब प्रदेश भर में प्रवर्तन टीमें अंतरराज्यीय बसों की डग्गामारी पर अंकुश लगाएंगी। आरटीओ प्रवर्तन की टीमें डग्गामार बसों पर कार्रवाई कर रहीं या नहीं इसकी लगातार जांच भी की जाएगी। इस जांच में जो फेल मिला उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अवैध अड्डों से चलती हैं डग्गामार बसें

राजधानी लखनऊ के कई इलाकों के अवैध अड्डों से बिना परमिट वाली डग्गामार बसों का संचालन किया जाता है। इसमें डॉलीगंज बंधा, बेगम हजरत महल पार्क, कमता, चिनहट, ट्रांसपोर्ट नगर, होटल पिकैडली के पीछे से अवैध डग्गामार बसें दिल्ली, गुड़गांव, चंडीगढ़ के यात्रियों ढोती हैं। इसके अलावा बिना परमिट वाली एसी बसों को गोमती नदी के पास, एलडीए कॉलोनियों और गोमती नगर में भी खड़ा करके संचालित किया जाता है। दरअसल, लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर गत 27 जुलाई की रात हुए भीषण बस हादसे में करीब 18 लोगों की मौत होने पर शासन ने अवैध बसों के संचालन पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दिया है। इसके बाद परिवहन विभाग ने अब पूरे प्रदेश में डग्गामार बसों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

Next Story
Share it