Top
Action India

उत्तराखंड में निवासरत लोगों के लिए चारधाम यात्रा शुरू लेकिन बदरीनाथ में रात्रि प्रवास की मनाही

  • शाम चार बजे के बाद श्रद्धालुओं को लामबगड़ से आगे जाने की इजाजत नहीं

जोशीमठ । एएनएन (Action News Network)

उत्तराखंड में रह रहे लोगों के लिए चारधाम यात्रा आज से शुरू तो हो गई है लेकिन श्रद्धालु बदरीनाथ में रात्रि प्रवास नहीं कर सकेंगे। यात्रा शुरू करने को लेकर डीएम और पुलिस कप्तान ने आज श्री बदरीनाथ का भ्रमण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि सायं चार बजे के बाद कोई भी श्रद्धालु लामबगड से आगे नहीं जा सकेगा। जिलाधिकारी ने लामबगड स्लाइड जोन के निरीक्षण उपरांत कहा कि अगले 15 दिनों मे नई एप्रोच रोड बनकर तैयार हो जाऐगी। बरसात को दखेते हुए पूरी सरकारी मशीनरी को एक्टिवेट कर दिया गया है।

शाासन द्वारा राज्यवासियों के लिए चारधाम यात्रा शुरू कराने के फैसले के बाद चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बुधवार को बदरीनाथ पंहुचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और कोरोना को देखते हुए आवश्यक दिशा निर्देश मातहतों को जारी किए।

जिलाधिकारी ने बदरीनाथ मंदिर के सभा मंडप, परिक्रमा परिसर, तप्तकुड मार्ग आदि क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने नगर पंचायत बदरीनाथ व देवस्थानम बोर्ड के कार्मिकों को सेनिटाइजेशन नियमित रूप से करने के साथ ही शारीरक दूरी का पालन कराने के भी निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि जब तक बदरीनाथ धाम में सभी होटल व धर्मशालांए नहीं खुल जातीं तब तक किसी भी श्रद्धालु को बदरीनाथ में रात्रि प्रवास नहीं करने दिया जाएगा। साथ ही शाम चार बजे के बाद भी कोई श्रद्धालु बदरीनाथ नहीं जा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि लामबगड में बदरीनाथ आने वाले सभी श्रद्धालुओं की चेकिंग और रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। बदरीनाथ मार्ग पर पिछले ढाई दशक से नासूर बने लामबगड स्लाइड जोन के बारे मे पूछने पर जिलाधिकारी ने कहा कि अगले 15 दिनों मे एप्रोच रोड बनकर तैयार हो जाएगी। इसके बाद नई एप्रोच रोड से आवागमन किया जा सकेगा।

डीएम ने कहा कि बरसात को देखते हुए सभी संभावित स्थलों पर जेसीबी मशीनें तैनात कर दी गई हैं। इसके अलावा सभी तहसीलों मे कंट्रोल रूम एक्टिवेट हो चुके हैं।

बदरीनाथ पहुंचने से पूर्व जिलाधिकारी चमोली से लेकर बदरीनाथ तक के यात्रा मार्ग का स्थलीय निरीक्षण कर विभिन्न स्थानों पर कार्यदायी संस्थाओं को यात्रा को देखते हुए मार्ग दुरस्त करने, और दवाओं का छिड़काव करने व कार्य के दौरान वाहनों को कम से कम रोके जाने के निर्देश भी दिए।

बदरीनाथ से लौटकर एसडीएम (जोशीमठ) ने बताया कि अगले आदेशों तक अपराह्न साढ़े तीन बजे के बाद कोई भी वाहन जोशीमठ से बदरीनाथ के लिए नहीं जा सकेगा। इसी प्रकार पीपलकोटी से तीन बजे के बाद बदरीनाथ के लिए वाहनों को नहीं छोड़ा जाएगा और लामबगड से चार बजे के बाद कोई भी वाहन बदरीनाथ के लिए नही जा सकेगा। उन्होंने बताया कि लामबगड मे बतौर मजिस्ट्रैट नायब तहसीलदार जोशीमठ की तैनाती की गई है।

जिलाधिकारी के बदरीनाथ निरीक्षण व भ्रमण के दौरान पुलिस अधीक्षक यशवंत चौहान, एसडीएम अनिल कुमार चन्याल, पुलिस उपाधीक्षक आशीष भारद्वाज, बदरीनाथ के धर्माधिकारी आचार्य भुवन च्रंद्र उनियाल, जोशीमठ के थानाध्यक्ष जेएस नेगी, बदरीनाथ के थानाध्यक्ष सतेन्द्र नेगी, मंदिर अभियंता विपिन तिवारी, वेदपाठी रविन्द्र भट्ट, नगर पंचायत बदरीनाथ के ईओ सुनील पुरोहित, नायब तहसीलदार प्रदीप नेगी सहित अनेक अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

Next Story
Share it