Action India
अन्य राज्य

गढ़वाल के आईजी ने की चार धाम यात्रा की तैयारियों और अन्य आपराधिक गतिविधियों की समीक्षा

गढ़वाल के आईजी ने की चार धाम यात्रा की तैयारियों और अन्य आपराधिक गतिविधियों की समीक्षा
X

देहरादून । एएनएन (Action News Network)

गढ़वाल परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक अजय रौतेला ने आज राज्य के जिला पुलिस प्रमुखों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से परिक्षेत्रीय अपराधों की समीक्षा की। इसमें चार धाम यात्रा की तैयारियों और अन्य आपराधिक गतिविधियों पर भी चर्चा की गई।

पुलिस महानिरीक्षक ने परिक्षेत्र के जनपदों की आलोच्य अवधि की अपराध स्थिति की समीक्षा करते हुए डकैती, लूट, चोरी, वाहन चोरी, नकबजनी एवं अन्य सम्पत्ति सम्बन्धी अपराधों के शीघ्र अनावरण एवं शत-प्रतिशत बरामदगी तथा विवेचना के विधिक निस्तारण के निर्देश दिये।

इसके अतिरिक्त हत्या, दहेज हत्या, बलात्कार और अपहरण जैसे गम्भीर अपराधों सहित घटित सभी अपराधों के शीघ्र अनावरण व विवेचनाओं के विधिक निस्तारण की कार्यवाही निश्चित समयावधि के अन्दर सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिए।

इसके साथ ही जनपदों में अपराधों की रोकथाम एवं अपराध नियंत्रण की दिशा में समुचित कार्यवाही यथा निरोधात्मक कार्यवाही तत्परतापूर्वक सुनिश्चित किये जाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना (कोविड-19) के संक्रमण के वृह्द स्तर पर फैलने के दृष्टिगत रोकथाम के लिए पुलिस स्तर पर समुचित कार्यवाही एवं ड्यूटी में नियुक्त पुलिस बल को संक्रमण से बचे रहने के लिए ब्रीफ किया जाए।

उन्होंने ड्यूटी के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए ड्यूटी स्थलों तथा प्रवास स्थानों की नियमित सैनेटाइजिंग, फेस मास्क या फेस शील्ड, पीपीई किट आदि की उपलब्धता तथा थाना चौकी या पुलिस लाइन परिसर के सुरक्षात्मक प्रत्येक उपाय सुनिश्चित किये जाने के लिए निर्देशित किया।

रौतेला ने आगामी चार-धाम यात्रा प्रारम्भ होने के दृष्टिगत यात्रा-मार्गों पर समुचित पुलिस प्रबंध समय से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। लम्बित एसआर केस (डकैती, लूट, वाहन लूट, हत्या) तथा धोखाधड़ी के अभियोगों से विवेचकों या पर्यवेक्षण अधिकारियों की सम्बन्धित मासिक समीक्षा के दौरान समयबद्ध निस्तारण करने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्थापित सीएम हेल्पलाइन पोर्टल (1905) से सम्बन्धित शिकायतों की समीक्षा कर प्राप्त होने वाली शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर संज्ञान लेकर थाना स्तर या क्षेत्राधिकारी स्तर पर तत्परतापूर्वक निस्तारित करें। महिला उत्पीड़न से सम्बन्धित अपराधों पर शीघ्र कार्यवाही कर उनका त्वरित निस्तारण किया जाये।

वांछित तथा इनामी घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी की कार्यवाही थाना स्तर पर सुनिश्चित किये जाने के लिए प्रभावी पर्यवेक्षण के लिए क्षेत्राधिकारी या अपर पुलिस अधीक्षकों को टास्क सौंपकर शत-प्रतिशत कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। साथ ही न्यायालय या पुलिस सत्यापन सम्बन्धी प्राप्त अहकामात (वारंट/सम्मन) की तामील अथवा सत्यापन की कार्यवाही समय से सम्पन्न की जाए।

वीडियो क्रान्फ्रेसिंग में देहरादून के एसएसपी अरुण मोहन जोशी, हरिद्वार के एसएसपी सेंथिल अबूदेई कृष्णराज, पौड़ी के एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर, टिहरी के एसएसपी योगेन्द्र रावत, उत्तरकाशी के एसपी पंकज भट्ट, चमोली के एसपी यशवन्त सिंह और रुद्रप्रयाग के जिला पुलिस प्रमुख नवनीत भुल्लर सम्मिलित हुए।

Next Story
Share it