Action India
अन्य राज्य

उत्तराखंडः ग्रीन जोन उत्तरकाशी में सूरत से लौटे युवक को कोरोना, जिले में पहला पॉजिटिव केस

उत्तराखंडः ग्रीन जोन उत्तरकाशी में सूरत से लौटे युवक को कोरोना, जिले में पहला पॉजिटिव केस
X

उत्तरकाशी । एएनएन (Action News Network)

गुजरात के सूरत से जनपद उत्तरकाशी लौटे यहां के एक युवक में कोरोना संक्रमण पाया गया है। उत्तरकाशी ग्रीन जोन में है और जनपद में कोरोना संक्रमण का यह पहला मामला है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 68 हो गई है। मुख्य चिकित्साधिकारी डीपी जोशी ने इसकी पुष्टि की है।

यह युवक उत्तरकाशी जनपद के डुण्डा ब्लॉक अंतर्गत गांव धनारी पट्टी का रहने वाला है। वह सूरत में रहता था और लॉक डाउन के दौरान वहां से उत्तराखंड आने के लिए कोई साधन नहीं मिलने पर 8 मई को मोटर साइकिल से उत्तरकाशी पहुंचा था। बताया गया है कि सूरत से आते समय उसके साथ दो-तीन और लड़के अलग-अलग मोटर साइकिलों पर आए थे। यहां पहुंचने पर उसका चिकत्सीय परीक्षण करने के बाद उसे एकांतवास में रखा गया था। उसके सैम्पल लेकर उसी दिन कोरोना जांच के लिए भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट आज तड़के पॉजिटिव प्राप्त हुई है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन में हड़कम्प मच गया है, क्योंकि 8 मई को इस युवक का चिकित्सीय परीक्षण करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों ने पीपीई किट नहीं पहन रखी थी।

उल्लेखनीय है कि उत्तरकाशी ग्रीन जोन में है और अभी तक यहां कोरोना संक्रमित कोई मरीज नहीं पाया गया था। जिले के सीएमओ डा. डीपी जोशी ने युवक में कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट प्राप्त होने की पुष्टि की है। हालांकि उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर युवक में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं लेकिन अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश से जो ताजा रिपोर्ट प्राप्त हुई है, उसमें कोरोना पॉजिटिव आया है। इसके साथ ही युवक के सम्पर्क में आए लोगों की कंटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य शुरू कर दिया गया है।

उत्तरकाशी में इस नए मरीज के सामने आने के बाद राज्य में अबतक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 68 हो गई, जिनके सापेक्ष कुल 46 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं जबकि कोरोना संक्रमित एक महिला मरीज की पिछले सप्ताह ऋषिकेश, एम्स में ब्रेन हैमरेज से मौत हो चुकी है। इस तरह राज्य में इस समय कोरोना संक्रमित कुल 21 मरीज विभिन्न अस्पतालों में उपचाररत हैं। इनमें सर्वाधिक नौ मरीज उधम सिंह नगर के हैं जबकि देहरादून के सात, हरिद्वार के तीन, नैनीताल और उत्तरकाशी के एक-एक मरीज हैं।

Next Story
Share it